नेशनल

प्रद्युम्न मर्डर केस की होगी CBI जांच, रेयान स्कूल को सरकार ने किया टेकओवर

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
1224
| सितंबर 15 , 2017 , 17:55 IST

प्रद्युम्न हत्याकांड के मामले की गंभीरता को देखते हुए शुक्रवार को हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर प्रद्युम्न के घर पहुंचे। सीएम खट्टर ने परिवार वालों से मिलकर उन्हें सांत्वना दी और आरोपियों को सख्त सजा दिलाने का आश्वासन दिया। सीएम खट्टर ने मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश की है। साथ ही सीएम खट्टर ने कहा कि रेयान स्कूल को सरकार ने तीन महीने के लिए टेकओवर कर लिया है। स्कूल में प्रशासक की नियुक्ति होगी।

बता दें कि, प्रद्युम्न की हत्या मामले में दो वीडियो सामने आए हैं। दोनों वीडियो को देखकर लग रहा है कि अगर प्रद्युम्न को दूसरे अस्पताल में नहीं भेजा जाता तो शायद वह बच जाता।

पहला वीडियो

इस वीडियो में प्रद्युम्न को घटना के तुरंत बाद अस्पताल लेकर जाया जा रहा है। इस CCTV फुटेज में प्रद्युम्न के साथ स्कूल का स्टाफ भी है। जिसमें बच्चे को गोद में उठा रखा है। इस अस्पताल के बाद प्रद्युम्न को दूसरे अस्पताल में रेफर किया जाता है, जहां बच्चे की मौत हो जाती है। एेसी उम्मीद जताई जा रही है कि अगर इसी अस्पताल में प्रद्युम्न का इलाज होता रहता तो शायाद आज प्रद्युम्न जीवित होता।

दूसरा वीडियो

एसआईटी ने सीसीटीवी खंगाला तो बड़ी मार्मिक और दिल दहलाने वाली तस्वीरें सामने आई। सीसीटीवी फुटेज में देखा गया कि खून से लथपथ प्रद्युम्न, काटे गए गले को हाथ से पकड़कर टॉयलेट से बाहर आ रहा है। इस वीडियो में साफ तौर पर देखा जा रहा है कि प्रद्युम्न का बड़ी ही बेरहमी से गला काटा गया है। हालांकि ये सीसीटीवी वीडियो अभी कहीं भी उपलब्ध नहीं हैं, मगर एक फूटेज सामने आई है।

इस फूटेज में स्कूल के गार्ड्स ही प्रद्युम्न को लेकर अस्पताल पहुंचते दिखाई दे रहे है। जिसके बाद स्कूल मैनेजमेंट पर कई तरह से सवाल खड़े हो रहे हैं। सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक, शुक्रवार(8 सितंबर) सुबह 7 बजकर 40 मिनट पर स्कूल बस कैंपेस में दाखिल हो गई, इस बस में आरोपी कंडक्टर मौजूद था। वहीं सुबह 7 बजकर 55 मिनट पर प्रद्युम्न के पिता प्रद्युम्न और उसकी बहन को स्कूल छोड़ते हैं। इसके बाद बहन क्लास में चली जाती है और प्रद्युम्न टॉयलेट जाता है। वहीं कंडक्टर अशोक भी टॉयलेट के अंदर जाता है। 7 बजकर 55 मिनट से 8 बजकर 10 मिनट के बीच कोई तीसरा व्यक्ति वॉशरूम में नहीं जाता है।

इसी बीच प्रद्युम्न की हत्या कर दी जाती है। इस घटना के बाद सबसे पहले माली आता है, जो बच्चे को खून से लथपथ देखकर चिल्लाने लगता है। माली की आवाज सुनकर बाकी लोग वहां पर पहुंचते हैं और फिर आरोपी अशोक भी वहां पर दिखाई देता है। इसके बाद बच्चे को अस्पताल ले जाया गया जहां पर डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

गौरतलब है कि 8 सितंबर को गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्‍कूल में 7 साल के प्रद्युम्न हत्‍या का मामला सामने आया था। इसके बाद मर्डर के आरोप में बस कंडक्‍टर अशोक को गिरफ्तार कर लिया गया था। अशोक ने मीडिया के सामने भी हत्‍या की बात कुबूल की थी। लेकिन अब उसके परिवार वालों का आरोप है कि पुलिस ने अशोक की पिटाई की, जिसके बाद उसने दवाब में आकर हत्‍या की बात स्‍वीकार कर ली।

 


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें