मनोरंजन

समझो कुछ गलत है...प्रद्युम्न पर प्रसून जोशी की ये कविता आपको झकझोर देगी

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
934
| सितंबर 12 , 2017 , 17:32 IST

गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में मासूम प्रद्युम्न की हत्या ने हर किसी के दिल झकझोर कर रख दिया है। इस घटना ने हर मां-बाप को यह सोचने पर मजबूर कर दिया है कि, क्या जिन स्कूल में उनके बच्चें जिंदगी की सीख ले रहे हैं, वहां उनकी खुद की जिंदगी सुरक्षित है? सोशल मीडिया पर लोग गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। इस मामले में गीतकार प्रसून जोशी ने आंखें खोल देने वाली कविता लिखी है और इस कविता को फेसबुक पर शेयर किया है।

सेंसर बोर्ड अध्यक्ष प्रसून जोशी की यह कविता पुरे देश में वायरल हो रही है। इससे पहले भी कई मौको पर प्रसून ने अपनी बात को मजबूती से रखा है। इस घटना के बाद पूरे देश में जो माहौल बना हुआ है, उस पर गीतकार प्रसून जोशी की यह कविता सारी सच्चाई बयां कर रही है।

Pradyumna-1505187064

यहां पढ़े प्रसून जोशी की कविता की कुछ पंक्तिंया

जब बचपन तुम्हारी गोद में आने से कतराने लगे, जब मां की कोख से झांकती ज़िन्दगी, बाहर आने से घबराने लगे, समझो कुछ ग़लत है। जब तलवारें फूलों पर ज़ोर आज़माने लगें, जब मासूम आंखों में ख़ौफ़ नज़र आने लगे, समझो कुछ ग़लत है। जब ओस की बूँदों को हथेलियों पे नहीं, हथियारों की नोंक पर थमना हो, जब नन्हें-नन्हें तलुवों को आग से गुज़रना हो, समझो कुछ ग़लत है।

जब किलकारियां सहम जाए जब तोतली बोलियां ख़ामोश हो जाएँ समझो कुछ ग़लत है। कुछ नहीं बहुत कुछ ग़लत है क्योंकि ज़ोर से बारिश होनी चाहिये थी पूरी दुनिया में हर जगह टपकने चाहिये थे आंसू रोना चाहिये था ऊपरवाले को आसमान से फूट-फूट कर शर्म से झुकनी चाहिये थीं इंसानी सभ्यता की गर्दनें! शोक नहीं सोच का वक़्त है मातम नहीं सवालों का वक़्त है। अगर इसके बाद भी सर उठा कर खड़ा हो सकता है इंसान तो समझो कुछ ग़लत है।

गौरतलब है कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल गुरूग्राम एक सात साल के मासूम की बेरहमी से गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। ये हत्या स्कूल के ही बस कंडक्टर ने की थी। पुलिस के मुताबिक हत्यारे कंडक्टर ने अपने गुनाह कबूल लिए है। दरअसल, हत्यारे ने कक्षा 2 में पढ़ रहे सात साल के प्रद्युम्न के साथ यौन शोषण का प्रयास किया था और बच्चे के चिल्लाने पर उसे लगा कि कही वो फंस ना जाए तो उसने बेरहमी से उसका कत्ल कर दिया था।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें