नेशनल

प्रवासियों से बोले PM मोदी- 21वीं सदी भारत की, हमारी नजर किसी की जमीन पर नहीं

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
946
| जनवरी 9 , 2018 , 15:23 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को दिल्ली में प्रथम प्रवासी भारतीय सांसद सम्मेलन (PIO- पर्सन ऑफ इंडियन ओरिजिन) का उद्घाटन किया। इस दौरान पीएम मोदी ने प्रवासी भारतीय सांसदों को संबोधित किया। मोदी ने न्यू इंडिया की बात की और उन्हें भारत का सच्चा ब्रांड एंबेसेडर बताया।

मंगलवार को प्रवासी सांसदों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 21वीं सदी एशिया की है, हम इसे भारत की सदी बनाना चाहते हैं। न्यू इंडिया में आप लोगों का भी पूरा महत्व है।
इस कार्यक्रम में 23 देशों के 140 सांसद शामिल हुए।

पीएम मोदी ने कहा कि 21 शताब्दी भारत की है और वह पूरे विश्व की यात्रा कर चुके है, जहां कहीं भी वह गए वहां उन्हें प्रवासी भारतीयों के बीच भारत को लेकर आशावादी माहौल दिखा है।

उन्होंने कहा कि भारत ने कभी भी किसी दूसरे की धरती पर नजर नहीं डाली। पीएम मोदी ने कहा कि 21वीं शताब्दी टेक्नोलॉजी की सदी है और इस बात को ध्यान में रखते हुए ही सरकार ने तकनीक और ट्रांसपोर्ट के लिए निवेश में वृद्दि की है।

इसे भी पढें :- आधार मामला: सरकार बोली- पत्रकार पर नहीं दर्ज हुई है FIR, हम प्रेस की आजादी के साथ

मोदी ने कहा कि नेपाल में आए भूकंप के वक्त, श्रीलंका में बाढ़ के वक्त और मालदीप में पानी की समस्या के वक्त भारत ने सबसे पहले प्रतिक्रिया दी थी। जब यमन में संकट आया था तब हमने 4500 लोगों की जान बताई थी। हम वसुधैव कुटुम्बकम का पालन करते हैं।

पीएम मोदी की बड़ी बातें...

1)- प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत की आवश्यकताओं, शक्तियों और विशेषताओं को विश्व तक पहुंचाने की जितनी क्षमता आपमें हैं, और किसी में नहीं है। दुनिया के अस्थिरता से भरे वातावरण में भारतीय सभ्यता और संस्कृति के मूल्य, पूरे विश्व का मार्गदर्शन कर सकते हैं।

2)- पीएम बोले कि भारत की विकास यात्रा में प्रवासी भारतीयों का भी पूरा महत्व है, आप निवेश के जरिए भी देश की सेवा कर सकते हैं।

3)- मोदी ने कहा कि अहिंसा के मार्ग पर चलते हुए दुनिया की सभी समस्याओं को सुलझाया जा सकता है। न्यू इंडिया के सपने को पूरा करने के लिए आप के साथ आगे बढ़ना चाहते हैं। पीएम ने कहा कि 21वीं सदी भारत की है, लेकिन हमारी नज़र किसी की जमीन पर नहीं है।

4)- पिछले सालों में भारत में विदेशी निवेश में काफी इजाफा हुआ है. पिछले तीन-चार सालों में दुनिया का फोकस दुनिया पर बढ़ा है. मोदी बोले कि आप लोग लंबे समय से अलग-अलग देशों में रह रहे हैं।

आपने अनुभव किया होगा कि पिछले तीन-चार वर्षों में भारत के प्रति नजरिया बदल गया है। हम पर फोकस बढ़ रहा है, विश्व का हमारे प्रति नजरिया बदल रहा है, तो इसका मुख्य कारण यही है कि भारत स्वयं बदल रहा है, ट्रांसफॉर्म हो रहा है।

5)- उन्होंने कहा कि जहां वैश्विक समाज अलग-अलग स्तरों और विचारधाराओं में बंट रहा है, वहां आप भारत की 'सबका साथ सबका विकास' का उदाहरण दे सकते हैं। जहां विश्व में Extremism और Radicalization के बारे में चिंता बढ़ रही है,वहां आप दुनिया को भारतीय संस्कृति के “सर्व पंथ समभाव” का संदेश दुहरा सकते हैं।


कमेंट करें