नेशनल

अहमदाबाद में बेहोशी की हालत में मिले प्रवीण तोगड़िया, अस्पताल में भर्ती

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
432
| जनवरी 16 , 2018 , 07:43 IST

सोमवार सुबह से लापता चल रहे विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया का पता चल गया है। अहमदाबाद के शाही बाग इलाके में प्रवीण तोगड़िया शाम को करीब 11 घंटे बाद अचेत अवस्था में मिले हैं।

सोमवार सुबह 10.45 बजे से उनका कुछ पता नहीं चल पा रहा था, जिसको लेकर वीएचपी ने विरोध प्रदर्शन भी किया था। उन्हें चंद्रमणि अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

तोगड़िया का इलाज कर रहे डॉ. आरएम अग्रवाल ने कहा है कि तोगड़िया को बेहोशी की हालत में भर्ती कराया गया था। उनकी शुगर कम हो गई थी और इसी वजह से वह बेहोश हो गए थे। उन्होंने बताया कि तोगड़िया को एंबुलेस अस्पताल लेकर आई थी। डॉ. अग्रवाल ने कहा है कि अब उनकी हालत पहले से बेहतर है।

चंद्रमणि अस्पताल के डायरेक्टर डॉक्टर रूप कुमार अग्रवाल का कहना है कि तोगड़िया को अस्पताल में अचेत अवस्था में लाया गया था। उनका कहना है, 'उनकी हालत में सुधार हो रहा है। हालांकि अभी वह कुछ बोलने की स्थिति में नहीं हैं। उनका हृदय रोग का इतिहास रहा है। लिहाजा इको-2डी जांच की गई है। बाकी जरूरी जांचें बाद में की जाएंगी।'

वीएचपी प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा है, 'पूरे देश में कार्यकर्ता तोगड़िया को लेकर चिंतित थे। किसी को पता नहीं था कि वह कहां गए। हमने सभी कार्यकर्ताओं से धैर्य बनाए रखने की अपील की थी।'

इससे पहले, तोगड़िया की कथित गिरफ्तारी पर सोमवार को अहमदाबाद में हंगामा हुआ। वीएचपी कार्यकर्ताओं ने उनके गायब होने के विरोध में अहमदाबाद, गांधीनगर, सूरत, राजकोट, मोरबी और नर्मदा में विरोध प्रदर्शन किया।

वीएचपी कार्यकर्ताओं का कहना था कि राजस्थान पुलिस तोगड़िया को गिरफ्तार करके ले गई थी। अहमदाबाद के जॉइंट पुलिस कमिश्नर जेके भट्ट ने कहा था कि तोगड़िया को न गुजरात पुलिस ने गिरफ्तार किया और न राजस्थान पुलिस ने गिरफ्तार किया।

Togadia-fir_011518052605

राजस्थान पुलिस ने भी तोगड़िया की गिरफ्तारी से इनकार किया था। वहीं, अहमदाबाद पुलिस ने कहा था कि तोगड़िया की तलाश की जा रही थी।

वीएचपी कार्यकर्ताओं का कहना है कि राजस्थान पुलिस सोमवार को प्रवीण तोगड़िया को विश्व हिंदू परिषद के दफ्तर से अपने साथ ले गई थी। विश्व हिंदू परिषद के दफ्तर में मौजूद लोगों ने इसके विरोध में अहमदाबाद-गांधीनगर हाईवे पर प्रदर्शन भी किया।

Togadiya_1516036604_618x347

अहमदाबाद पुलिस क्राइम ब्रांच ने सोमवार शाम को इस मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इसमें कहा गया था कि प्रवीण तोगड़िया की तलाश की जा रही है। पुलिस के मुताबिक तोगड़िया विश्व हिंदू परिषद के मुख्यालय से सुबह 10:45 पर निकले थे। वह एक रिक्शे से निकले थे।

पुलिस के मुताबिक तोगड़िया खुद ही रिक्शे में बैठकर वीएचपी दफ्तर से निकले थे। उन्होंने अपने सुरक्षा कर्मी को भी साथ आने से मना कर दिया था। गौरतलब है कि तोगड़िया को जेड प्लस सिक्यॉरिटी मिली हुई है। 

इसे भी पढ़ें:- अदालत के लिए निकले प्रवीण तोगड़िया हो गए 'लापता', दो राज्यों की पुलिस को नहीं पता

पुलिस से जब पूछा गया कि क्या तोगड़िया अंडरग्राउंड हो गए तो उन्होंने कहा, 'हम यह नहीं कह रहे हैं, लेकिन इतना साफ है कि वह अकेले ही रिक्शे में बैठकर निकले हैं।'

अहमदाबाद पुलिस का कहना था कि पाडली ऑफिस की सीसीटीवी फुटेज तलाशी जा रही हैं। यहीं तोगड़िया को आखिरी बार देखा गया था। पुलिस ने कहा था कि उन्हें इस मामले में तोगड़िया के परिवार की ओर से अब तक गुमशुदगी की कोई रिपोर्ट नहीं मिली है।

अहमदाबाद पुलिस ने कहा है कि वह वीएचपी के रणछोड़भाई भारवाड़ और दूसरे कार्यकर्ताओं के साथ संपर्क में है। तोगड़िया की तलाश में चार टीमें लगी हुई हैं।

जानकारी के मुताबिक राजस्थान पुलिस को उनकी तलाश एक पुराने केस के सिलसिले में थी। राजस्थान पुलिस के डीजीपी ओपी गलहोत्रा ने कहा है कि तोगड़िया की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

राजस्थान के गंगापुर शहर में प्रवीण तोगड़िया के खिलाफ केस दर्ज हुआ था। इसमें तोगड़िया को कोर्ट के सामने पेश होना था, लेकिन उनकी पेशी नहीं हुई थी। इसके बाद कोर्ट ने तोगड़िया के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी किया था।

इससे पहले, वीएचपी नेता तोगड़िया गुजरात विधानसभा चुनावों के दौरान बीजेपी के हिंदुत्व कार्ड पर सवाल उठाने की वजह से चर्चा में आए थे।

उन्होंने कहा था कि हिंदुओं के नाम मपर टोकनिजम बंद होना चाहिए। उन्होंने कहा था, 'राम मंदिर बनाने की बात करो, कश्मीर में हिंदुओं को बसाने की बात करो और गुजरात के विकास की बात करो। बताओ कि गुजरात में किसानों की हालत इतनी खराब क्यों है?'

फिल्म पद्मावत पर भी तोगड़िया का बयान सुर्खियों में रहा था। उन्होंने पूछा था कि क्या संजय लीला भंसाली मुहम्मद पैगम्बर पर फिल्म बनाने की हिम्मत कर सकते हैं?

हमारी मां पद्मिनी पर क्यों फिल्म बनाने की हिम्मत हो रही है? तोगड़िया ने कहा कि केंद्र सरकार फिल्म पर रोक लगाए, वरना सिनेमाघरों में वह होगा जिसे इतिहास याद रखेगा।


कमेंट करें