नेशनल

भगोड़ा आर्थिक अपराधी विधेयक पर राष्ट्रपति की मुहर, नहीं भाग पाएंगे नीरव-माल्या जैसे अपराधी

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
2024
| अगस्त 5 , 2018 , 15:33 IST

देश से हजारों करोड़ रुपये लेकर भागने वालों पर अब सरकार ने शिकंजा कसने की तैयारी पूरी कर ली है। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने भगोड़ा आर्थिक अपराधी विधेयक को मंजूरी दे दी है। इस कानून के लागू होते ही भगोड़े आर्थिक अपराधियों पर लगाम कसी जा सकेगी। इस कानून के लागू हो जाने के बाद से इन भगोड़ों को कानूनी प्रक्रिया से कोई नहीं बचा सकेगा। बता दें कि भगोड़ा आर्थिक अपराधी विधेयक, 25 जुलाई 2018 को राज्यसभा में पारित हुआ था।

Untitled design


गौरतलब है कि इस समय देश की जांच एजेंसियां शराब कारोबारी विजय माल्या, हीरा कारोबारी नीरव मोदी और उसका मामा मेहुल चोकसी को में लगी हुई हैं। ये तीनों ही बैंकों को हजारों करोड़ की चपत लगाकर देश छोड़ कर भाग गए हैं। ये फरार आर्थिक अपराधी विदेशों में छुपे हुए हैं जहां से भरता सरकार इनके प्रत्यर्पण की कोशिशों में लगी हुई है।

क्या है भगोड़ा आर्थिक अपराधी

100 करोड़ से अधिक रुपये के आर्थिक गड़बड़ी के मामले में जिस पर गिरफ्तारी वारंट जारी किया गया हो और वो पकडे जाने के भय से देश छोड़कर भाग जाए, ऐसे अपराधी को भगोड़ा आर्थिक अपराधी की श्रेणी में रखा जाएगा।

नए कानून के तहत संपत्ति जब्त करने का मिलेगा अधिकार

इस नए कानून के तहत विशेष अदालत को किसी व्यक्ति को भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित करने और उसकी बेनामी तथा अन्य संपत्तियों को जब्त करने का अधिकार होगा। इस कानून के अनुसार, 'जब्ती आदेश की तारीख से जब्त की गई सभी संपत्तियों का अधिकार केंद्र सरकार के पास रहेगा।'


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें