राजनीति

जैसे बेटी के लिए वर खोजा जाता है, सपा में बेटे के जवान होने पर क्षेत्र खोजा जाता है: अमर

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2216
| अगस्त 28 , 2018 , 13:11 IST

राज्यसभा के सांसद अमर सिंह ने मंगलवार को हुई एक प्रेस कांफ्रेंस में अखिलेश यादव से लेकर आजम खान तक को अपने निशाने पर लिया। आजम खान के इन बयानों से साफ बीजेपी की पृष्ठ भूमि दिखाई दी। मंगलवार को अमर सिंह ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में वह खुले तौर पर भाजपा का साथ देंगे, लेकिन वह बीजेपी में शामिल नहीं होंगे।

लखनऊ में एक प्रेस कांफ्रेंस को सम्बोधित करते हुए अमर सिंह ने कहा कि आजम खां मेरी बेटियों पर तेजाब फेंकवाने की बात कहता है। जिसे सुनकर मेरी पत्नी दुखी होती है रोती है। मैं 30 अगस्त को रामपुर जा रहा हूं। मैं कहता हूं कि आजम खां मेरी कुर्बानी ले ले और मेरी बेटियों को बख्श दे।

अमर सिंह ने कहा कि आजम ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद को अपना आदर्श बताया था। भारत मां को डायन कहा था। ऐसे लोगों को भारत में नहीं रहना चाहिए। आजम खान पर हमले का दौर यहीं नही रुका अमर सिंह ने आजम खान को मुलायम सिंह का राजनीतिक पुत्र भी घोषित कर दिया। इसके बाद उन्होने हमला करते हुए कहा कि अगर झूठ बोलने पर कोई शोध हो तो आजम को पुरस्कार मिलेगा।

अमर सिंह ने आजम खां पर कहा कि वो मुझे अवसरवादी कहता है। हां मैं अवसरवादी हूं क्योंकि मेरी पत्नी राज्यसभा की सदस्य नही हैं। हां, मैं अवसरवादी हूं क्योंकि मैंने करोड़ों रुपये का घोटाला कर विश्वविद्यालय नहीं बनाया है। आजम खां का बेटा विधानसभा में है।

अमर सिंह ने अखिलेश पर भी निशाना साधा और कहा कि पहले मुझ पर परिवार तोड़ने के आरोप लगते थे। अब तो मैं उनके परिवार का हिस्सा नहीं हूं अब एक क्यों नहीं हो जाते। वहीं, उन्होंने एक बार फिर से समाजवादी पार्टी को नमाजवादी पार्टी करार देते हुए उस पर परिवारवाद का आरोप लगाया है।

इसे भी पढ़ें-: DMK के दूसरे अध्यक्ष बने करुणानिधि के पुत्र स्टालिन, इन चुनौतियों का करना पड़ेगा सामना

उन्होंने कहा कि लोहिया जी ने पार्टी में अपने परिवार के किसी सदस्य को स्थान नहीं दिया था लेकिन यहां तो पूरी पार्टी ही परिवार से ही भरी पड़ी है। अमर सिंह ने चुटीले अंदाज में कहा कि जिस तरह बेटी के जवान होने पर वर ढूंढा जाता है वैसे ही सपा परिवार में बच्चों के बड़े होने पर क्षेत्र ढूंढा जाता है कि वो कहां से चुनाव लड़ेगा।


कमेंट करें