नेशनल

विवादित बयानों के कारण मोदी ने बिप्लब देब को किया तलब, 2 मई को दिल्ली में मुलाकात

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1186
| अप्रैल 30 , 2018 , 09:01 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब को उनके विवादास्पद बयानों के लिए तलब किया है। भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने रविवार को कहा कि देब को मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से राष्ट्रीय राजधानी में दो मई को मुलाकात करने के लिए कहा गया है। देब ने पिछले महीने त्रिपुरा के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। उन्होंने कई ऐसे बयान दिए हैं, जिनकी व्यापक आलोचना हुई है।

उन्होंने कहा था कि इंटरनेट और उपग्रह संचार महाभारत युग में मौजूद था। उन्होंने डायना हेडेन के 1997 में विश्व सुंदरी बनने पर भी सवाल उठाया था। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि मेकेनिकल इंजीनियरों को सिविल सेवा में नहीं जाना चाहिए, बल्कि सिविल इंजीनियरों को जाना चाहिए।

G

उन्होंने यह भी कहा कि शिक्षित युवाओं को सरकारी नौकरियों के लिए राजनीतिक दलों के चक्कर काटने के बदले पान की दुकान खोलने चाहिए। उन्होंने युवाओं को डेयरी में करियर बनाने और गाय पालने के लिए भी कहा है।

भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने रविवार को कहा, "पार्टी के वरिष्ठ नेता देब के बयानों से पैदा हुए विवाद से नाराज हैं। देब कुछ भी बोलते जा रहे हैं। मोदी उनसे बात करेंगे।

डायना ने कहा शर्म करो-:

मुख्यमंत्री देब ने पूर्व मिस वर्ल्ड डायना हेडेन के 21 साल पहले मिस वर्ल्ड चुने पर सवाल उठाए थे। उन्होंने हेडेन से पहले 1994 में मिस वर्ल्ड रहीं ऐश्वर्या रॉय को भारतीय महिला का सही रूप बताया था और कहा था कि वे 1997 में डायना हेडेन को मिस वर्ल्ड बनाने के निर्णय को समझने में असफल रहे हैं। 

डायना ने कहा, मैं समझ सकती हूं कि रंग में अंतर के कारण ही बिप्लब ने मेरी तुलना प्रियंका चोपड़ा और हाल ही में मिस वर्ल्ड बनीं मानुषी छिल्लर से नहीं कर ऐश्वर्या रॉय से की है। उन्हें शर्म करनी चाहिए, क्योंकि हमें अपनी खूबसूरत और आकर्षक सांवली त्वचा पर गर्व करना चाहिए। मुझे खुद पर गर्व है।

इसे भी पढ़ें-: त्रिपुरा CM का 'विप्लव' ज्ञान, बोले-गाय पाल लेते युवा तो अब तक 10 लाख रुपये कमा लेते

जिसके बाद अपने बयान पर बिप्लब देब ने खेद व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि मैं त्रिपुरा में जो हैंडलूम में काम करते हैं, उनकी मार्केटिंग पर बोल रहा था। मैं किसी को दुख नहीं पहुंचाना चाहता था।

--आईएएनएस  


कमेंट करें