राजनीति

कांग्रेस हेडक्वार्टर पहुंची प्रियंका गांधी, संभाला पदभार, बोलीं- दुनिया जानती है क्या हो रहा है?

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1664
| फरवरी 6 , 2019 , 17:53 IST

मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े एक मामले में रॉबर्ट वाड्रा बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय ED के सामने पेश हुए। उनके साथ उनकी पत्नी प्रियंका गांधी भी थीं। पति को ED दफ्तर के गेट पर छोड़ने के बाद प्रियंका वहां से सीधे कांग्रेस मुख्यालय पहुंची और पदभार संभल लिया। वाड्रा को दिल्ली के पटियाला कोर्ट से 16 फरवरी तक के लिए अंतरिम जमानत मिली हुई है। पिछली सुनवाई के दौरान उनके वकील ने कोर्ट को भरोसा दिलाया था कि वाड्रा 6 फरवरी को ED के सामने पेश होंगे।

प्रियंका जौसे ही अपने दफ्तर पहुंची वहां मौजूद पत्रकारों ने उनसे इस वाड्रा पर सवाल किया तो उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि, पूरी दुनिया को पता है कि क्या हो रहा है। वहीं महासचिव बनने पर उन्होंने कहा कि मैं खुश हूं कि राहुल जी ने ये जिम्मेदारी मुझे सौंपी है। कांग्रेस मुख्यालय में कुछ देर तक लोगों से मिलने के बाद प्रियंका गांधी अपने घर पहुंच गईं।

बताते चलें कि पेशी के लिए वाड्रा कल ही अमेरिका से भारत लौटे हैं। खबरों की माने तो वाड्रा लंदन में अपनी मां का इलाज करा रहे थे और फिर वहां से अमेरिका गए थे। मनी लॉन्ड्रिंग केस में वाड्रा अग्रिम जमानत पर हैं। वाड्रा ने गिरफ्तारी की आशंका के बाद पटियाला हाउस कोर्ट में अग्रिम जमानत की अर्जी लगाई थी। कोर्ट ने 16 फरवरी तक गिरफ्तारी से राहत ही है।

ED ने लंदन के ब्रायंस्टन स्क्वायर में 19 लाख पाउंड की एक संपत्ति की खरीद को लेकर वाड्रा के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के तहत मामला दर्ज किया है। ईडी के मुताबिक, आयकर विभाग फरार हथियार कारोबारी संजय भंडारी के खिलाफ कालाधन कानून और कर कानून के तहत दर्ज मामलों की जांच कर रहा था। इस दौरान आयकर विभाग को किसी मामले में अरोड़ा की भूमिका पर भी संदेह हुआ। इसके बाद उसके खिलाफ मामला दर्ज किया है।

ईडी का कहना है कि भगोड़े संजय भंडारी ने इस प्रॉपर्टी को खरीजी और 2010 में इसे उसे उसी किमत पर वाड्रा को बेच दी। इसके अलावा ED ने हाल ही में वाड्रा के सहयोगी मनोज अरोड़ा को गिरफ्तार किया था। इसी गिरफ्तारी के बाद वाड्रा पर शिकंजा कसने की अटकनें लगाई जा रही थीं।


कमेंट करें