नेशनल

बंगला तोड़फोड़ मामला: योगी सरकार कर सकती है अखिलेश से 10 लाख रुपए की रिकवरी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1930
| अगस्त 2 , 2018 , 16:29 IST

सरकारी बंगले में तोड़फोड़ के मामले में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की मुसीबत बढ़ती हुई दिख रही है। पीडब्लूडी ने सरकारी बंगले में तोड़फोड़ की रिपोर्ट राज्य संपत्ति विभाग को सौंप दी है। 266 पेज की इस रिपोर्ट के अनुसार बंगले में मुख्य रूप से टाइल्स, सेनेट्री और इलेक्ट्रिक वायरिंग के काम का नुकसान हुआ है। इस नुकसान की कुल कीमत 10 लाख रुपये आंकी गई है।

रिपोर्ट के मुताबिक, बंगले की छत, किचन, बाथरूम, लॉन, जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, बैडमिंटन कोर्ट और साइकिल ट्रैक को नुकसान पहुंचाया गया। टाइल्स, सेनेट्री और बिजली की लाइन भी उखाड़ी गई।

पीडब्ल्यूडी के प्रमुख अभियंता एके शर्मा ने रिपोर्ट राज्य संपत्ति अधिकारी को भेज दी है। इस रिपोर्ट के अनुसार, पूर्व मुख्यमंत्री के तौर पर अखिलेश को मिले बंगले का ग्राउंड फ्लोर ही स्वीकृत था।

फर्स्ट फ्लोर का निर्माण उन्होंने खुद कराया। ग्राउंड फ्लोर पर भी काफी काम उन्होंने अपने संसाधनों से किया था। इसमें जगह-जगह टाइल्स उखड़ी मिलीं। सेनेट्री का सामान भी अच्छा खासा गायब मिला।

टोटियां उखाड़ने की बात आई थी सामने-:

8 जून को राज्य संपत्ति विभाग को बंगला सौंपा गया था। बाद में विभाग ने बंगले की स्थिति का आकलन कराया था तो उसमें तोड़फोड़ और टोटियां उखाड़ने की बात सामने आई थी। बाद में अखिलेश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इस पर सफाई दी थी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सभी पूर्व मुख्यमंत्रियों से बंगले खाली कराए गए थे।

रिपोर्ट का अध्ययन कर रही है सरकार-:

फिलहाल सरकार इस रिपोर्ट का अध्ययन कर रही है. इसके बाद रिकवरी नोटिस दी जा सकती है। राजनीतिक मुद्दा बनने पर समाजवादी पार्टी ने बयान जारी कर कहा था कि यूपी की योगी सरकार ने उपचुनाव की हार की खीज मिटाने के लिए तोड़फोड़ करवाई है।


कमेंट करें