इंटरनेशनल

राहुल गांधी का विदेशी धरती से मोदी सरकार पर हमला, कहा- बेरोजगारी की वजह से बढ़ रही लिंचिंग

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2234
| अगस्त 23 , 2018 , 08:48 IST

जर्मनी के हैम्बर्ग में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने विदेशी धरती से फिर एक बार मोदी सरकार पर निशाना साधा है। देश में बढ़ रही लिंचिंग (पीट-पीटकर हत्या) की घटनाओं को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि ऐसी घटनाएं बेरोजगारी की वजह से हो रही हैं और इसके लिए मोदी सरकार की जीएसटी और नोटबंदी जैसी नीतियां जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने नोटबंदी और जीएसटी को खराब तरीके से लागू किया, जिससे छोटे और मझौले कारोबार चौपट हो गए और बेरोजगारी बढ़ गई। बड़ी तादाद में लोगों को अपने गांव लौटने को मजबूर होना पड़ा। इससे लोगों में नाराजगी बढ़ी। लिंचिंग के बारे में जो कुछ भी हम सुनते हैं, वो इसी का परिणाम है। बता दें कि राहुल गांधी ब्रिटेन और जर्मनी के चार दिवसीय दौरे पर हैं।

 

गांधी ने यह भी कहा कि भारत में नौकरी की बड़ी समस्या है, लेकिन प्रधानमंत्री इसे नहीं देखना चाहते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘समस्या का समाधान करने के लिए आपको उसे स्वीकार करना होगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने भारतीय अर्थव्यवस्था में नोटबंदी का फैसला किया और एमएसएमई के नकद प्रवाह को बर्बाद कर दिया, अनौपचारिक क्षेत्र में काम करने वाले लाखों लोग बेरोजगार हो गए।

राहुल ने कहा कि दलितों, अल्पसंख्यकों, आदिवासियों को अब सरकार से कोई फायदा नहीं मिलता. उनको फायदा देने वाली सारी योजनाओं का पैसा चंद बड़े कॉर्पोरेट के पास जा रहा है. बड़ी संख्या में छोटे व्यवसायों में काम करने वाले लोगों को वापस अपने गांव लौटने को मजबूर होना पड़ा. इससे लोग काफी नाराज़ हैं. लिंचिंग के बारे में जो कुछ भी हम सुनते हैं वो इसी का परिणाम है. शरणार्थियों के अपमान का कारण कामगारों के बीच नौकरियों की कमी होना है. इससे घृणा और टकराव पैदा हो रहा है. भारत में यदि हम सभी लोगों रोज़गार दे पाते हैं तो जनसंख्या अपने आप में कोई समस्या नहीं है. राहुल गांधी ने भारत और पिछले 70 वर्षों में उसकी प्रगति के बारे में भी बोला।

संसद में पिछले महीने मोदी सरकार पर तीखे हमले करने के बाद प्रधानमंत्री को गले लगाने के वाकये का उल्लेख करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि संसद में जब उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गले लगाया था तो उनकी ही पार्टी के कुछ सदस्यों को यह पसंद नहीं आया था। लेकिन 'मैंने पीएम मोदी को गले लगाकर नफरत का जवाब प्यार से दिया है।

राहुल गांधी ने अपने दिवंगत पिता पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारों के बारे में भी बोला। उन्होंने कहा, ‘‘जब मैंने श्रीलंका में अपने पिता के हत्यारे को मृत पड़ा देखा तो मुझे अच्छा नहीं लगा। मैंने उसमें उसके रोते हुए बच्चों को देखा।’’ उन्होंने कहा कि मैंने हिंसा को झेला है और मैं आपको बता सकता हूं कि इससे निकलने का एकमात्र तरीका है - माफ करना, और माफ़ करने के लिए आपको यह समझना होगा कि ये कहां से आ रही है। लिबरेशन टाइगर्स ऑफ तमिल ईलम (लिट्टे) प्रमुख वी प्रभाकरण राजीव गांधी की हत्या के लिए जिम्मेदार था। उसे श्रीलंकाई सैनिकों ने 2009 में मार गिराया था।

 

उन्होंने कहा कि भारत और चीन के बीच कोई होड़ नहीं है। हो सकता है कि चीन भारत की तुलना में तेज़ी से बढ़ रहा हो, लेकिन भारत में लोग जो चाहते हैं वो व्यक्त कर सकते हैं, और यही मायने रखता है।

उन्होंने कहा कि अमेरिका के साथ भारत के सामरिक संबंध हैं, और हम उनके साथ लोकतंत्र जैसे कुछ विचार साझा करते हैं। लेकिन चीन बहुत तेजी से बढ़ रहा है। भारत की भूमिका इन दो शक्तियों को संतुलित करने की है।


कमेंट करें