राजनीति

राहुल गांधी ने मांगा PM मोदी से इस्तीफा, कहा- भ्रष्ट हैं देश के प्रधानमंत्री

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1430
| अक्टूबर 11 , 2018 , 13:40 IST

राफेल मुद्दे पर बीजेपी को कटघरे में खड़ा करते हुए राहुल गांधी ने पार्टी मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा है। कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि पीएम ने अनिल अंबानी को राफेल का ठेका दिलवाया। पीएम ने अनिल अंबानी की जेब में 30 हजार करोड़ डाले। इस वजह से रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को फ्रांस जाना पड़ा। राहुल गांधी ने पीएम मोदी को सीधे रुप से भ्रष्ट बताया है। राहुल ने इस मामले को लेकर मोदी से इस्तीफे की भी मांग की है।

राहुल गांधी ने कहा कि पहले फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति और अब राफेल के सीनियर एक्ज़ीक्यूटिव और साफ कह दिया है कि राफेल सौदे के बदले दसॉल्ट को रिलायंस से डील करने को कहा गया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि फ्रांस्वा ओलांद के बाद अब अधिकारी का बयान आ गया है कि डील के लिए अनिल अंबनी की रिलायंस को जोड़ना पड़ा। उन्होंने कहा कि पहले फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा था कि हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा था कि अनिल अंबानी जी को राफेल का कांट्रैक्ट मिलना चाहिए।

उन्होंने कहा कि अनिल अंबानी के चौकीदार हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। यह पूरी तरह से भ्रष्टाचार का मामला है और भारत के प्रधानमंत्री भ्रष्ट हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि इस मामले में कांग्रेस ने जेपीसी बनाकर जांच की मांग की थी। लेकिन बीजेपी इससे पीछे हट गई। उन्होंने आगे कहा कि पीएम मोदी ने देश के किसानों, युवाओं और गरीबों के साथ विश्वासघात किया है।

राहुल का कहना है कि इस मामले में पहले फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा था कि भारत के प्रधानमंत्री ने कहा था कि अनिल अंबानी जी को राफेल का ठेका मिलना चाहिए। अब दसॉ कंपनी के सीनियर एग्जीक्यूटिव ने कहा है कि इस सौदे में अनिल अंबानी की कंपनी को साझेदार बनाने की शर्त थी।

राहुल गांधी द्वारा कही गईं मुख्य बातें-:

- मोदी देश के नहीं, अंबानी के प्रधानमंत्री हैं।

- युवाओं से कहना चाहता हूं कि हिंदुस्‍तान के प्रधानमंत्री भ्रष्‍ट हैं।

- राफेल सौदे की जेपीसी जांच होनी चाहिए।

- अगर पीएम जवाब नहीं दे पा रहे हैं तो उन्‍हें इस्‍तीफा देना चाहिए।

- प्रधानमंत्री आजकल दूसरी दुनिया में हैं।

- जो वादे पीएम ने किए, वह अब उन पर नहीं बोलते।

- पहले फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा था कि हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा था कि अनिल अंबानी को राफेल का कॉन्‍ट्रेक्‍ट मिलना चाहिए।

- अनिल अंबानी 45,000 करोड़ रुपये के कर्जे में हैं। 10 दिन पहले कंपनी खोली और प्रधानमंत्री ने 30,000 करोड़ रुपया हिन्दुस्तान की जनता का पैसा, एयरफोर्स का पैसा अनिल अंबानी की जेब में डाला है।

- राफेल में प्रधानमंत्री ने सीधे-सीधे भ्रष्टाचार किया है उनकी भी जांच होनी चाहिए।

- हिन्दुस्तान की रक्षा मंत्री फ्रांस जा रही हैं इससे साफ संदेश क्या हो सकता है।

- पहले फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति और अब राफेल के सीनियर एक्ज़ीक्यूटिव को साफ कह दिया है कि राफेल सौदे के बदले दसॉल्ट को रिलायंस से डील करने को कहा गया।


कमेंट करें