राजनीति

राजस्थान फतेह की तैयारी, राहुल प्रोजेक्ट शक्ति कैंपेन के जरिये करेंगे सीधा संवाद

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1813
| मार्च 7 , 2018 , 17:23 IST

राजस्थान विधानसभा चुनावों में सत्ता हासिल करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 8 मार्च से प्रोजेक्ट शक्ति कैंपेन शुरू करेंगे। शक्ति कैंपेन के जरिए राहुल बूथ स्तर के कांग्रेस कार्यकर्ताओं से फोन के जरिए सीधा संवाद कायम करेंगे। राहुल गांधी खुद कार्यकर्ताओं से फोन और मैसेज के जरिए संपर्क करेंगे। चुनावी राज्यों में सबसे पहले राजस्थान से पायलट प्रोजेक्ट के तहत इसकी शुरुआत की जा रही है।

सचिन पायलट 8 मार्च को करेंगे इसकी शुरूआत

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे, प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट सहित वरिष्ठ नेता 8 मार्च को जयपुर में इसकी शुरुआत करेंगे। यह कैंपेन चुनाव तक चलेगा। राजस्थान के विधानसभा चुनाव कांग्रेस के लिए बहुत अहम हैं। बीते तीन उपचुनावों में मिली जीत के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं के हौसले बुलंद है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं को एकजुट रखने और उनका हौसला बढ़ाने के लिए राहुल गांधी बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से लगातार संपर्क में रहेंगे।

ग्रासरूट स्तर से फीडबैक लेंगे राहुल

शक्ति कैंपेन के जरिए राहुल गांधी टिकट के दावेदारों के बारे में भी सीधा ग्रासरूट स्तर से फीडबैक लेंगे। राजस्थान के बाद इसे सभी चुनावी राज्यों में लागू किया जाएगा। अगर यह फार्मूला कामयाब रहा, तो कांग्रेस देश भर में शक्ति कैंपेन के जरिए बूथ स्तर तक कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद करने के इस कैंपेन को एक मॉडल के रूप में लागू करेगी। राजस्थान विधानसभा चुनावों में सत्ता हासिल करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 8 मार्च से प्रोजेक्ट शक्ति कैंपेन शुरू करेंगे। शक्ति कैंपेन के जरिए राहुल बूथ स्तर के कांग्रेस कार्यकर्ताओं से फोन के जरिए सीधा संवाद कायम करेंगे। राहुल गांधी खुद कार्यकर्ताओं से फोन और मैसेज के जरिए संपर्क करेंगे। चुनावी राज्यों में सबसे पहले राजस्थान से पायलट प्रोजेक्ट के तहत इसकी शुरुआत की जा रही है।

सचिन पायलट 8 मार्च को करेंगे इसकी शुरूआत

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे, प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट सहित वरिष्ठ नेता 8 मार्च को जयपुर में इसकी शुरुआत करेंगे। यह कैंपेन चुनाव तक चलेगा। राजस्थान के विधानसभा चुनाव कांग्रेस के लिए बहुत अहम हैं। बीते तीन उपचुनावों में मिली जीत के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं के हौसले बुलंद है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं को एकजुट रखने और उनका हौसला बढ़ाने के लिए राहुल गांधी बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से लगातार संपर्क में रहेंगे।

ग्रासरूट स्तर से फीडबैक लेंगे राहुल

शक्ति कैंपेन के जरिए राहुल गांधी टिकट के दावेदारों के बारे में भी सीधा ग्रासरूट स्तर से फीडबैक लेंगे। राजस्थान के बाद इसे सभी चुनावी राज्यों में लागू किया जाएगा। अगर यह फार्मूला कामयाब रहा, तो कांग्रेस देश भर में शक्ति कैंपेन के जरिए बूथ स्तर तक कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद करने के इस कैंपेन को एक मॉडल के रूप में लागू करेगी। 


कमेंट करें