नेशनल

राहुल गांधी का PM मोदी से निवेदन, कहा- केरल की बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा घोषित करें

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2227
| अगस्त 18 , 2018 , 13:59 IST

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से केरल में आई बाढ़ को फौरन राष्ट्रीय आपदा घोषित करने का आग्रह किया। राहुल ने ट्वीट कर कहा, "प्रिय प्रधानमंत्री, कृपया देरी किए बिना केरल बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा घोषित करें। हमारे लाखों लोगों का जीवन, आजीविका और भविष्य दांव पर है।"

उफनती नदियों और भूस्खलन के चलते हुए हादसों में शनिवार सुबह तक मरने वालों की संख्या 180 तक पहुंच गई, जबकि तीन लाख लोगों को मजबूरन 2,000 राहत शिविरों में शरण लेनी पड़ी।

केरल में बाढ़ की स्थिति को लेकर 16 अगस्त को राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से फोन पर बात की थी और राज्य के लिए विशेष वित्तीय सहायता का आग्रह किया था। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को केरल के बाढ़ग्रस्त इलाकों का हवाई दौरा किया। उन्होंने केरल को 500 करोड़ रुपये की मदद का एलान भी किया।

बाढ़ से केरल में भयावह स्थिति-:

कोच्चि में सुबह भारी बारिश हुई जबकि एक शताब्दी में सबसे मुश्किल घड़ी से जूझ रहे केरल के कई हिस्सों की स्थिति काफी भयावह बनी हुई है। अब तक कुल मरनेवालों में ऐसा कहा जा रहा है कि पिछले सिर्फ दो दिनों के भीतर ही 150 लोग मारे गए हैं। मुख्यमंत्री पिनारई विजयन ने लगातार बारिश, भारी बाढ़ और भूस्खलन के कारण बनी स्थिति का काफी भयावह करार दिया है।

UN के महासचिव ने जताई चिंता-:

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस केरल में बांध से लोगों की मौत और तबाही से चितित हैं। वैश्विक संगठन इस घटनाक्रम पर करीब से नजर बनाए हुए है। गुटेरेस के प्रवक्ता स्टीफन डुजारिक ने शुक्रवार को संवाददाताओं को बताया कि संयुक्त राष्ट्र भारत में बाढ़ से मची तबाही और मौतों से व्यथित है। यह बाढ़ लगभग 100 सालों में सबसे विनाशकारी बाढ़ है।

यह पूछे जाने पर कि क्या भारत ने संयुक्त राष्ट्र से सहयोग मांगा है?

इस पर उन्होंने कहा कि अभी तक मदद नहीं मांगी गई है, जैसा कि आपको पता है कि भारत के पास इस तरह की प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के लिए सक्षम मशीनरी है। उन्होंने कहा, "लेकिन यकीनन हमारी टीम और मैं हमारे रेजिडेंट समन्वयक यूरी अफानासेव के संपर्क में हैं। वे इस घटना पर करीब से नजर रखे हुए हैं।"

बाढ़ प्रभावितों शुरू की गई कैम्प की सुविधा-:

बाढ़ में फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए जोर शोर से राहत और बचाव का काम चल रहा है। राज्य के मंत्री सा रा महेश ने ट्वीट कर बताया कि शाम तक राहत और बचाव का काम पूरा हो जाएगा। मुख्यमंत्री आज बाढ़ की स्थिति का जायजा लेंगे।

इसे भी पढ़ें-: केरल की भयावह बाढ़ से चिंतित है संयुक्त राष्ट्र, लगातार घटनाक्रम पर बनी है नजर: गुटेरेस

उधर, बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए राहत कैम्प बनाए गए हैं। उन राहत कैम्पों में खान, पानी, डॉक्टर्स और अन्य सभी सुविधाओं का इंतजाम किया गया है।


कमेंट करें