नेशनल

जरूरी सूचना :1 नवंबर से बदलेगा रेलवे का टाइम टेबल, ये हो सकते हैं बदलाव

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
1905
| अक्टूबर 30 , 2017 , 16:08 IST

रेलवे का नया टाइम टेबल 1 नवंबर को जारी होगा। नए टाइम टेबल में कुछ ट्रेनों की स्पीड बढ़ाई जा सकती है, तो वहीं इसमें कई ट्रेनों को सुपरफास्ट कैटेगरी में डालने से लेकर ट्रेनों के यात्रा का समय कम करने जैसे बड़े बदलाव होने की बात बताई जा रही है। ट्रेनों के समय में भी मामूली बदलाव होने की संभावनाएं है।

नये टाइम टेबल में कई ट्रेनों को सुपरफास्ट कैटेगरी में डालने से लेकर ट्रेनों के यात्रा का समय कम करने जैसे बड़े बदलाव होने की बात बतायी जा रही है। हालांकि, सरकार की इस कवायद के बावजूद रेलगाड़ियों की लेट-लतीफी दूर होने की उम्मीद कम ही दिखायी दे रही है। इसका कारण यह बताया जा रहा है कि रेलवे की हमसफर, तेजस और महामना जैसी प्रीमियम ट्रेनें टाइम टेबल से काफी देरी से चल रही हैं।

जानकारी के अनुसार आनंद विहार से गोरखपुर के बीच चलने वाली हमसफर ट्रेन को अब हफ्ते में तीन की बजाए सातों दिन चलाया जाएगा। इस ट्रेन के कोच रायबरेली फैक्ट्री में तैयार हो रहे हैं। जिसके बाद ही इस ट्रेन को चलाया जाएगा। 4 दिन यह ट्रेन बढ़नी के रास्ते और 3 दिन यह बस्ती के रास्ते चलेगी। इसके अलावा आनंद विहार से इलाहबाद के बीच एक नई हमसफर ट्रेन चलाने को हरी झंडी दी जा सकती है। जो इलाहबाद से हर सोमवार, बुधवार और शनिवार को रात 10:20 बजे चलेगी और वापसी में आनंद विहार से हर मंगलवार, गुरुवार और रविवार को राम 10:20 बजे चलेगी। इसका पूरा सफर 7 घंटे 55 मिनट का होगा।

रेल मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, नये टाइमटेबल में करीब 50 ट्रेनों को सुपरफास्ट श्रेणी में डाला जायेगा और यात्रा समय को 1-5 घंटे तक कम किया जायेगा। लंबी दूरी की 500 ट्रेनों की स्पीड बढ़ायी जायेगी। चरणबद्ध तरीके से ट्रेनों का मेंटेनेंस समय भी घटाया जायेगा। इसके साथ ही, 50 ट्रेनों को सुपरफास्ट बनाकर रेल मंत्रालय हर साल करीब 100 करोड़ रुपये की अतिरिक्त कमाई कर लेगा। रेलवे में सुपरफास्ट ट्रेन का दर्जा उन ट्रेनों को दिया जाता है, जिनकी एवरेज स्पीड 55 किलोमीटर प्रति घंटे से ज्यादा होती है।

ट्रेनों के स्टॉपेज कम कर जर्नी टाइम को कम करने का प्रयास भी रेलवे कर रहा है। इसके लिए 5 मिनट के स्टॉपेज को 3 मिनट में बदलने का ऐलान हो सकता है। इसके अलावा टाइम टेबल को इस तरह तैयार किया जा रहा है कि ट्रेनों को आउटर पर न रुकना पड़े। यह टाइम टेबल सेफ्टी के लिहाज से भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। इसमें रेलवे की मेंटिनेंस के लिए शेड्यूल निकालने की कोशिश है ताकि मेंटिनेंस के लिए एक तय समय मिल सके। नई दिल्ली से पुरी के लिए चलने वाली पुरुषोत्तम एक्सप्रेस और नई दिल्ली से मंडवादी के लिए चलने वाली एक्सप्रेस ट्रेनों में 10 से 20 मिनट का बदलाव देखने को मिल सकता है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें