मनोरंजन

'भइया मेरे राखी के बंधन को निभाना...', इन 5 गानों के बिना अधूरा है रक्षाबंधन का त्यौहार (वीडियो)

शुभा सचान , न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1971
| अगस्त 26 , 2018 , 19:13 IST

रक्षाबंधन का यह पर्व भाई-बहन के बीच अनूठे प्यार को दर्शता हैं। भाई-बहन के रिश्तों पर अब तक बॉलीवुड में कई सारी फिल्में बन चुकी हैं। इन सभी फिल्मों में दर्शकों को लुभाने के लिए रक्षाबंधन त्यौहार पर आधारित पर कुछ गाने भी बनाए गए हैं, जो भाई-बहन के त्यौहार पर बजाए जाते हैं। फिल्मों में इस रिश्ते को प्यार, तकरार, हंसी के साथ दिखाया जाता हैं। आज हम अपनी इस रिपोर्ट में आपको बॉलीवुड के वो 5 गाने दिखाएंगे, जिनके बिना रक्षाबंधन का त्यौहार अधूरा सा लगता है। 

1- भइया मेरे राखी के बंधन को निभाना

साल 1959 में आई फिल्म ‘छोटी बहन’ का गाना ‘भईया मेरे राखी के बंधन को निभाना’ भाई-बहन के पवित्र रिश्ते को दर्शाता हैं। इस गाने के जारिए बहन अपने भाई को कहती हैं कि अंतिम सांस इस रिश्ते को निभाना और बहुत प्यार देना। इस गाने के बोल इतने शानदार लिखे गए हैं कि सालों बाद बहनें रक्षाबंधन पर इसे दोहराती हैं।

2-बहना ने भाई की कलाई से प्यार बांधा है

सबसे पहले बात करते हैं साल 1974 में आई फिल्म ‘रेशम की डोरी’ की। इस फिल्म का गाना ‘बहना ने भाई की कलाई से प्यार बांधा है’ आज भी दर्शक देखना पसंद करते हैं। सुमन कल्याणपुर का गाया हुआ ये गाना रक्षाबंधन पर अक्सर बजाया जाता हैं।

3- मेरे भईया मेरे चंदा मेरे अनमोल रतन

1965 में आई ‘काजल’ मूवी का ये सॉन्ग भाई-बहन के रिश्तों को दिखाता है। इस गाने को आशा भोसले ने गाया है।

4- इसे समझो न रेशम का तार भइया

फिल्म ‘तिरंगा’ में भी एक गाना रक्षाबंधन पर फिल्माया गया था। इस गाने में एक्ट्रेस वर्षा उसगांवकर अपने तीन भाई के राखी का मतलब समझाती नजर आती हैं। वो इस गाने में बोल रही हैं कि राखी को केवल रेशम का तार नहीं समझना चाहिए, यह एक बहन का अपने भाई के प्रति प्यार होता है।

5- फूलों का तारों का सबका कहना है

यूं तो देव साहब के रोमांटिक गाने हर लड़की जुबान पर आज तक चढ़े हुए हैं लेकिन इनके बीच फूलों का तारों का… गाने की एक अलग ही जगह है। फिल्म हरे रामा, हरे कृष्णा के इस गाने के बिना किसी भी बहन का रक्षाबंधन पूरा नहीं होता है।

रक्षा बंधन के ये बेहतरीन आपके इस दिन को बेहद ही यादगार बना देंगे।


कमेंट करें