नेशनल

हमने बाबरी मस्जिद को 17 मिनट में तोड़ दी, तो कानून बनाने में कितना टाइम : संयज राउत

राजू झा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1536
| नवंबर 23 , 2018 , 18:02 IST

अयोध्या में राम मंदिर निमार्ण की अपनी मुहिम को धार देने में लगी शिवसेना ने शुक्रवार को कहा कि बाबरी मस्जिद को तोड़ने में 17 मिनट का समय लगा तो कानून बनाने में कितना समय लगता है। राष्ट्रपति भवन से लेकर यूपी तक बीजेपी की सरकार है। राज्यसभा में ऐसे बहुत से सांसद हैं जो राम मंदिर के साथ खड़े रहेंगे। जो विरोध करेगा देश में उसका घूमना मुश्किल होगा।

गौरतलब है कि अयोध्या में राम मंदिर को लिए कानून बनाने के लिए लगातार दबाव डाल रही है। शिवसेना ने शुक्रवार को भी अध्यादेश लाने और तारीख की घोषणा करने के लिए कहा। बीजेपी पर निशाना साधते हुए शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना' के एक संपादकीय में लिखा, "सत्ता में बैठे लोगों को शिवसैनिकों पर गर्व होना चाहिए जिन्होंने रामजन्मभूमि में बाबर राज को खत्म कर दिया। शिवसेना ने कहा कि वह चुनाव के दौरान न तो भगवान राम के नाम पर वोटों की भीख मांगती है और न ही जुमलेबाजी करती है। शिवसेना प्रमुख उद्धव राम मंदिर निर्माण की मांग को लेकर 25 नवंबर को अयोध्या का दौरा करेंगे।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर विवाद पर सुनवाई टलने के बाद अयोध्या में राजनीतिक दलों एवं हिंदू संगठनों की गहमागहमी काफी बढ़ गई है। विश्व हिंदू परिषद ने 25 नवंबर को अयोध्या में 'धर्मसभा' का आयोजन किया है। इसी दिन शिवसेना प्रमुख अपने समर्थकों के साथ अयोध्या पहुंच रहे हैं। उद्धव ठाकरे की अयोध्या यात्रा को लेकर शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' में आज एक लेख भी लिखा है जिसमें बीजेपी पर भी निशाना साधा गया है।

इस लेख में लिखा है, 'हमारे अयोध्या जाने की घोषणा करते ही खुद को हिंदुत्ववादी कहलाने वालों के पेट में मरोड़ क्यों उठने लगी? शिवसेना महाराष्ट्र तथा देशभर से अयोध्या पहुंच रही है तो वह राजनीति करने के लिए नहीं। राम के नाम पर वोटों का कटोरा लेकर दर-दर घूमें तथा चुनाव का मौसम आते ही सभा-सम्मेलन से जय श्रीराम के नारें दे। ऐसी जुमलेबाजी हमारे खून में नहीं। हमारी धमनियों में शिवाजी महाराज के हिंदुत्व का रक्त है।'

खबरों के मुताबिक उद्धव ठाकरे अयोध्या जाने से पहले गुरुवार को पुणे जिले के शिवनेरी किले पर गए थे। शिवनेरी किले से एक कलश में मिट्टी ली और वह कलश वो अपने साथ अयोध्या ले जाने वाले है, जहां वह इसे राम जन्मभूमि के महंत को सौंपेंगे। अयोध्‍या में वह पुजारियों और साधु-संतों के साथ बैठक कर राम मंदिर निर्माण के बारे में चर्चा करेंगे। वह शनिवार को दो दिनों के लिए अयोध्या के दौरे पर पहुंच रहे हैं। उद्धव ठाकरे का अयोध्या दौरा 24 और 25 नवंबर को है।


कमेंट करें