बिज़नेस

लॉन्च होते ही प्लेस्टोर से गायब हो गया पतंजलि का kimbho ऐप, ये है वजह

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1144
| मई 31 , 2018 , 19:47 IST

रामदेव बाबा की कंपनी पतंजलि ने इनोवेटिव मैसेजिंग ऐप Kimbho लॉन्च किया। कंपनी ने वॉट्सऐप को टक्कर देने के लिए कुछ अलग फीचर्स के साथ kimbho मैसेजिंग ऐप बनाया है । इस ऐप Kimbho का टैगलाइन 'अब भारत बोलेगा' दिया गया है।

1200x630wa-1024x538
बता दें कि 1 दिन के भीतर ही इस kimbho ऐप को 50 हजार बार डाउनलोड भी कर लिया गया। लेकिन अब बाबा रामदेव को लगा करारा झटका । जब से गूगल प्लेस्टोरे से हटा दिया गया उनका इनोवेटिव ऐप kimbho । हालांकि जिन जिन यूजर्स ने इस ऐप को डाउनलोड किया था, उनके फोन के प्ले स्टोर में अभी भी यह ऐप दिख रहा है।

1527749126_patanjali-kimbho-messenger-app-whatsapp
अब गूगल प्ले स्टोर में सर्च करने पर ऐप नहीं दिखा रहा है। किंभो नाम का ही दूसरा ऐप सबसे टॉप पर दीख रहा है । मगर चौकाने वाली बात तो यह है की यह पतंजलि का ऐप नहीं है।
पतंजलि के किंभो ऐप में काफी यूजर फ्रेंडली फीचर्स हैं। इसमें मेन स्क्रीन पर चैट्स, कॉन्टैक्स और ऐक्टिविटी के साथ कुल 3 टैब मिलेंगे। सबसे ऊपर दाईं ओर कोने में दिए गियर आइकन में जाकर प्रोफाइल एडिट कर सकते हैं। सर्च में जाकर किसी कॉन्टैक्ट को देख सकते हैं।

ऐप के प्रोफाइल पेज पर जाकर एडिट प्रोफाइल में अपना नाम और तस्वीर को बदला जा सकता है। फोन नंबर बदलने का भी ऑप्शन मिलता है। इसके साथ ही आप इस ऐप को किसी के साथ शेयर भी कर सकते हैं।

Komboscreen1280
जब आप किसी को मेसेज करते हैं तो आपको टाइपिंग बार के पास सजेशन के लिए एक आइकन मिलेगा। इस पर टैप करने से नमस्ते, राम राम, इन मीटिंग जैसे नई जब आप किसी को मेसेज करते हैं तो आपको टाइपिंग बार के नीचे सजेशन के लिए एक आइकन मिलेगा। इस पर टैप करने से नमस्ते, राम राम, इन मीटिंग जैसे नयाफीचर दिखेंगे।

जाने आखिर क्यों हैकर हुआ kimbho इनोवेटिव मैसेजिंग ऐप

फ्रेंच के हैकर - इलियट एंडरसन ने अपने ट्विटर अकाउंट @fs0c131y से बहुत सारी ट्वीट्स करके किंभो को सिक्यॉरिटी के साथ एक मजाक बताया। हैकर ने अपने एक ट्वीट में स्क्रीन शॉट शेयर करते हुए लिखा, 'यह किंभो ऐप एक मजाक है। अगली बार प्रेस से बात करें तो अच्छे डिवेलपर रखें। अभी के लिए इस ऐप को इंस्टॉल ना करें।'

इसके बाद उसने लिखा, 'ओके, मैं यहां खत्म कर रहा हूं। किंभो ऐप सुरक्षा के लिहाज से एक डिजास्टर है। मैं चाहु तो किंभो के हर एक यूजर के मेसेज ऐक्सेस कर सकता हूं।'

इस तरह ही पहले भी हैकर ने आधार में सुरक्षा के लिहाज से बहुत सी कमियां बताई थीं। आपको बता दें के ज़ादा हैंग होने के चलते उसे प्लेस्टोर से हटा दिया गया है। वहीं किंभो ऐप ने ट्वीट कर बताया, 'हमें किंभो ऐप पर ज्यादा ट्रैफिक मिल रहा है। हम सर्वर को अपग्रेड करने की प्रक्रिया में हैं। असुविधा के लिए खेद है। हमारे साथ बने रहें।'

टैग्स: Baba ramdev|#babaRamdev|Kimbho

कमेंट करें