राजनीति

सर्जिकल स्ट्राइक वीडियो पर घमासान, बीजेपी ने कहा- राहुल ने कहा था 'खून की दलाली'

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1974
| जून 28 , 2018 , 14:13 IST

सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो सावर्जनिक होने के बाद देश की राजनीति में भूचाल आ गया है। इस वीडियो की टाइमिंग पर कांग्रेस ने सवाल उठाते हुए आरोप लगाया कि मोदी सरकार सर्जिकल स्ट्राइकल का राजनीतिकरण कर रही है। कांग्रेस के आरोप पर अब मोदी सरकार और बीजेपी ने पलटवार किया है। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस लगातार सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठा रही है। इससे पाकिस्तानी आतंकवादियों को खुशी मिल रही होगी। प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सर्जिकल स्ट्राइक को खून की दलाली कहा था। उनकी माता सोनिया गांधी ने इससे पहले मौत के सौदागर जैसे शब्दों का प्रयोग कर चुकी हैं।


रविशंकर प्रसाद ने कहा कि गुलाम नबी आजाद भी सेना पर सवाल उठा रहे हैं और कह रहे हैं कि सेना आतंकवादियों को कम बल्कि नागरिकों को ज्यादा मारते हैं। उन्होंने कहा कि आज भी लोग सवाल उठा रहे हैं कि ये सीडी कहां से आई ये अभी क्यों जारी की गई लेकिन कांग्रेस के बयानों पर अगर कोई सबसे खुश है तो वह पाकिस्तान में बैठे आतंकवादियों को होगी। उन्होंने कहा कि क्या देश में सेना के मनोबल को तोडऩा ही कांग्रेस का काम है।

सर्जिकल स्ट्राइक को केंद्र सरकार की उपलब्धि बताने को लेकर कांग्रेस ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है।सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो जारी होने के 12 घंटे बाद कांग्रेस ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस प्रवक्ता रनदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक का बीजेपी राजनैतिक इस्तेमाल करने का आरोप लगाया।

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भाजपा पर सेना के साथ सौतेला व्यवहार करने का आरोप लगाया। इसके अलावा पूछा है कि इस वीडियो को जारी करने की जरुरत क्यों पड़ी।

सुरजेवाला ने कहा, 'सत्ताधारी पार्टी को यह याद रखना चाहिए कि वह सेना के जवानों के बलिदान का इस्तेमाल वोट पाने के लिए नहीं कर सकती है। जवान ही होते हैं जो देश के लिए अपनी जिंदगी गंवा देते हैं और यह मोदी जी हैं जिनका इसके लिए महिमामंडन किया जा रहा है। भाजपा सर्जिकल स्ट्राइक की वीरगाथा को वोट पाने के लिए इस्तेमाल कर रही है। राष्ट्र को इस बात को समझने की जरुरत है कि जब भी मोदी सरकार विफल होती है, जब भी अमित शाह की भाजपा हारने लगती है वह अपने राजनीतिक फायदे के लिए सेना की बहादुरी का दुरुपयोग करने लगते हैं। '

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, 'मोदी सरकार जय जवान जय किसान के नारे का शोषण कर रही है और सर्जिकल स्ट्राइक पर वोट हासिल करने की कोशिश कर रही है। देश जानना चाहता है कि क्या अटल बिहारी वाजपेया या मनमोहन सिंह के कार्यकाल में सेना के ऑपरेशन इस तरह से नहीं हुए थे? भाजपा ने भारतीय सेना के अधिकारियों को बिना बताए उनका राशन एक साल से बंद कर रखा है, मसाला भत्ता कम कर दिया गया है और रेजीमेंट भत्ता आधा कर दिया है।'

सुरजेवाला ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के वीडियो वोट के लिए जारी किए गए हैं। लेकिन जब सुरजेवाल से सवाल किया गया कि सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाए गए थे और कई पार्टी के नेताओं ने सबूत मांगे थे तो कांग्रेस प्रवक्ता ने गोल-मटोल जवाब दिया। सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा के ही 2 नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्रियों (यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी) ने सवाल उठाए थे। यह भाजपा का अंदरूनी मामला है। बता दें कि कांग्रेस नेता संजय निरुपम और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत कुछ नेताओं ने सर्जिकल स्ट्राइक के दावे पर सवाल उठाए थे।

सुरजेवाला ने आरोप लगया कि हमेशा से करमुक्त रहने वाले कैंटीन के सामान पर नरेंद्र मोदी और अरुण जेटली ने जीएसटी लगा दिया है। भाजपा देश की सुरक्षा को खतरे में डाल रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने सेना से भेदभाव किया। वह सेना का राजनीतिक शोषण कर रही है। हम पूछना चाहते हैं कि क्या मोदी सरकार देश के जवानों की वीरगाथा का दुरुपयोग कर उनका इस्तेमाल वोट के लिए नहीं कर रही है? हम चाहते हैं कि भाजपा सर्जिकल स्ट्राइक के नाम पर राजनीति ना करे।

सुरजेवाला के बयान पर संबित पात्रा ने कहा देखिए यह बड़ा दुखद विषय है। आज एक ऐसा मौका है जिसपर हमें पाकिस्तान को चेतावनी देनी चाहिए कि अगर तू आतंकवाद को बढ़ावा देगा तो तेरा यही हश्र होगा। यह वही पार्टी है जो सेना से सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत मांग रही थी। इनके राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने स्ट्राइक को खून की दलाली बताया था।

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, चूंकि कांग्रेस इस तरह की वीडियो नहीं बना पाई क्योंकि उनके पास हैं ही नहीं है तो हम भी ऐसा ही नहीं कर सकते हैं। यह भाजपा के पक्ष में लोगों की भावनाओं का शोषण कैसे कर रहा है? अगर आपने ऐसा किया तो आपने छुपाया क्यों? यह पुरानी कहावत की तरह है कि अंगूर खट्टे होते हैं।

बता दें कि सर्जिकल स्ट्राइक के अगले दिन सेना के तत्कालीन डायरेक्टर जनरल ऑफ मिलिट्री ऑपरेशंस रणबीर सिंह ने एक प्रेस कांफ्रेंस करके इसकी जानकारी साझा की थी। जिसके बाद पाकिस्तान ने कहा था कि भारत द्वारा ऐसी कोई भी कार्रवाई नहीं की गई है। लेकिन अब इस कार्रवाई के 21 महीने बाद एक वीडियो सामने आया है। जिसमें कई लॉन्च पैड्स को तबाह होते देखा जा सकता है।


कमेंट करें