नेशनल

शहीद औरंगजेब को मिलेगा शौर्य पुरस्कार, कश्मीर में आतंकियों ने ले ली थी जान

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
2212
| अगस्त 14 , 2018 , 21:31 IST

गुरुवार को 15 अगस्त के मौके पर अदम्य सौर्य और देश के लिए मरमिटने वाले उन जाबांजों को याद किया जाएगा जिन्होनें अपने और अपने परिवार के लिए न सोचकर देश के लिए अपनी कुर्बानी दे दी। ऐसे शहीदों को हमारा देश नमन करता है। इस मौके पर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने वीरता के लिए दिए जाने वाले सर्वोच्च पुरस्कारों की घोषणा की है। ये लिस्ट काफी लंबी है लेकिन इनमें से कुछ नाम ऐसे हैं जिन्हें लेते ही आपको याद आएगी उनकी कुर्बानी की वो कहानी जो कभी न भूली जाने वाली है।

Video-release-by-ter

इस बार स्‍वतंत्रता दिवस पर जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के हाथों शहीद हुए भारतीय सेना में राष्‍ट्रीय राइफल के शहीद जवान औरंगजेब को शौर्यचक्र दिया जाएगा। औरंगजेब को मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्मानित किया जाएगा। 14 जून 2018 को आतंकियों ने औरंगजेब को उस वक्त अगवा किया था जब वे ईद मनाने के लिए छुट्टी लेकर घर जा रहे थे। अगवा करने के बाद आतंकियों ने उनकी हत्या कर दी थी। उसी दिन पुलवामा में औरंगजेब का गोलियों से छलनी शव मिला था। आतंकियों ने औरंगजेब का मरने से पहले का वीडियो भी जारी किया था। औरंगजेब के पिता हनीफ सेना से रिटायर्ड हैं। 2014 में आतंकियों ने औरंगजेब के चाचा को अगवा कर उनकी हत्या कर दी थी। औरंगजेब मेजर शुक्ला की टीम में थे। इसी टीम ने ही आतंकी समीर टाइगर का एनकाउंटर किया था।

इसके अलावा गढ़वाल राइफल्स के मेजर आदित्‍य कुमार को भी शौर्य चक्र से नवाजा जाएगा। मेजर आदित्य जम्मू-कश्मीर में तैनात हैं। 27 जनवरी को सेना का काफिला सर्च ऑपरेशन से लौट रहा था उस वक्त शोपियां में प्रदर्शनकारियों ने काफिले पर पथराव शुरू कर दिया। जवानों को अपनी जान बचाने के लिए फायरिंग करनी पड़ी जिसमें तीन पत्थरबाज मारे गए थे। जिसके बाद जम्मू-कश्मीर सरकार ने मेजर आदित्य और उनके साथियों पर एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया था। मेजर आदित्य के पिता ने एफआईआर को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है।

सरकार ने 72 वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर आज राज्य पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों के कुल 972 कर्मियों को सेवा पदक देने की घोषणा की। सेवा के दौरान शहादत देने वाले कश्मीर के सीआरपीएफ के दो जवानों को देश का शीर्ष पुलिस वीरता पुरस्कार, राष्ट्रपति पुलिस वीरता पदक (पीपीएमजी) दिया गया।

यहां देखिए औरंगजेब का आखिरी वीडियो

 

 


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें