नेशनल

खतरे में RJD: चुनाव आयोग लालू की पार्टी की सदस्यता कर सकता है रद्द

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1280
| अप्रैल 16 , 2018 , 21:44 IST

निर्वाचन आयोग ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) को वित्त वर्ष 2014-15 की सालाना ऑडिट रपट दाखिल करने से विफल रहने पर कारण बताओं नोटिस भेजा है। आयोग ने कहा है कि बार-बार याद दिलाने के बावजूद निर्देशों का पालन नहीं करने के लिए क्यों नहीं पार्टी की मान्यता रद्द कर देनी चाहिए। राजद के अध्यक्ष व कोषाध्यक्ष के नाम से भेजे गए नोटिस में आयोग ने कहा है, "पार्टी ने वित्त वर्ष 2014-15 की ऑडिट रपट अब तक नहीं दाखिल की है, जबकि रपट दाखिल करने की निर्धारित तिथि 31 अक्टूबर, 2015 को ही बीत चुकी है।"

नियमानुसार प्रत्येक राजनीतिक दल के लिए हर साल 31 अक्तूबर तक पार्टी की वार्षिक ऑडिट रिपोर्ट जमा करना अनिवार्य है। आयोग द्वारा पार्टी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के नाम जारी नोटिस में कहा गया है कि राजद ने साल 2014-15 की वार्षिक ऑडिट रिपोर्ट अब तक नहीं दी है।

इसकी अंतिम तिथि 31 अक्तूबर 2015 थी. इस आधार पर आयोग ने राजद प्रमुख को जारी कारण बताओ नोटिस में कहा है कि क्यों न उनकी पार्टी के खिलाफ चुनाव चिन्ह (आरक्षण एवं आवंटन) आदेश 1968 के पेराग्राफ 16ए के तहत कार्रवाई की जाये।

इसे भी पढ़ें-: कर्नाटक विधानसभा चुनाव: बीजेपी ने 82 उम्मीदवारों की दूसरी सूची की जारी

उल्लेखनीय है कि इसके उल्लंघन में आयोग किसी भी मान्यता प्राप्त दल की मान्यता को निलंबित करने के लिये अधिकार संपन्न है। उच्चतम न्यायालय के आदेशानुसार सभी राजनीतिक दलों को तय समयसीमा के भीतर चुनाव आयोग को अपनी वार्षिक ऑडिट रिपोर्ट पेश करना अनिवार्य है। देश में सात राष्ट्रीय दलों सहित 49 राज्यस्तरीय मान्यता प्राप्त दल हैं।


कमेंट करें