राजनीति

RSS देगा राहुल गांधी को अपने कार्यक्रम 'भविष्य का भारत' में आने का न्यौता?

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1704
| अगस्त 27 , 2018 , 15:41 IST

राहुल गांधी का आरएसएस पर लगातार हमला जारी रहता है वहीं यूरोपीय दौरे पर दौरान में राहुल गांधी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तुलना अरब जगत के संगठन मुस्लिम ब्रदरहुड से की थी। उससे पहले भी राहुल गांधी लगातार आरएसएस पर हमले करते रहे है।

जिसको देखते हुए आरएसएस ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी सहित विपक्ष के कई नेताओं को दिल्ली में आयोजित होने वाले अपने एक कार्यक्रम 'भविष्य का भारत' राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का दृष्टिकोण' में हिस्सा लेने के लिये आमंत्रित करेगा।

1

इसके साथ ही राहुल समेत कई दलों के प्रमुखों को बुलावा भेजा जाएगा। यह भी कहा जा रहा है कि सीताराम येचुरी जैसे लेफ्ट नेता को भी आमंत्रित किया जा सकता है। सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी को आरएसएस चीफ मोहन भागवत से सवाल पूछने के लिए भी आमंत्रित किया जाएगा। उल्‍लेखनीय है कि इससे पहले जून में संघ ने पूर्व राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी को भी आमंत्रित किया था। वह नागपुर स्थित संघ के हेडक्‍वार्टर गए थे और भारतीयता के विषय पर अपने विचार भी रखे थे।

4

अपने विदेश दौरे में राहुल गांधी की ओर से संघ और बीजेपी पर जमकर निशाना साधा है। ऐसे में यह दिलचस्प है कि आरएसएस की ओर से राहुल गांधी को कार्यक्रम में हिस्सा लेने का न्यौता भेजने का फैसला किया गया है। प्रणब मुखर्जी के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के फैसले पर कांग्रेस असहज नजर आई थी और कुछ नेताओं ने प्रणब मुखर्जी को चिट्ठी को लेकर अपने फैसले पर फिर से विचार करने के लिये कहा था।

आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं-:

कहा जा रहा है कि आरएसएस अपने कार्यक्रम में हर फील्ड के शीर्ष लोगों को बुलाएगी, जिसमें पॉलिटिकल और मीडिया के भी कई चेहरे शामिल होंगे। वहीं, जब मुस्लिम ब्रदरहुड वाले बयान पर संघ के प्रचार प्रमुख अरुण कुमार से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा, 'जो अभी भारत को नहीं समझा वह संघ को नहीं समझ सकता, जानकारी के अभाव में वह ऐसी तुलना कर रहे हैं।'

सूत्रों के मुताबिक, आरएसएस कार्यक्रम के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी को न्योता दे सकती है। हालांकि इस बारे में आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा गया है।

प्रणब मुखर्जी और रतन टाटा भी हो चुके हैं शामिल -:

2

गौरतलब है कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और उद्योगपति रतन टाटा भी पहले आरएसएस के कार्यक्रम में शामिल हो चुके हैं। मुखर्जी जून 2018 में नागपुर में आयोजित आरएसएस के कार्यक्रम का हिस्सा बने थे जबकि टाटा 24 अगस्त को मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुए। हालांकि, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी के जाने की खबरों के बाद कांग्रेस नेताओं ने जमकर उन पर हमला किया था।


कमेंट करें