इंटरनेशनल

टूटी बंदिशें: सऊदी अरब में पहली बार महिलाओं को मिला ड्राइविंग का हक

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
1375
| सितंबर 27 , 2017 , 10:24 IST

सऊदी अरब में पहली बार महिलाओं को ड्राइविंग की इजाजत दी गई है। शाह सलमान बिन अब्‍दुल अजीज अल सऊद ने एक शाही फरमान जारी करते हुए महिलाओं को देश में वाहन चलाने का अधिकार दिया है। सऊदी शाह सलमान का ये आदेश 24 जून 2018 तक लागू किया जाएगा। यह निर्णय तत्काल लागू नहीं किया जाएगा क्योंकि देश में महिलाओं के लिए ड्राइविंग सीखने या ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त करने के लिए कोई बुनियादी ढांचा नहीं है।

सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर इसकी जानकारी दी है। इसके लिए एक कमिटी बनाई गई है, जो एक महीने के अंदर रिपोर्ट तैयार करेगी।

आपको बता दें कि सऊदी अरब अकेला ऐसा देश है जहां महिलाओं के गाड़ी चलाने पर प्रतिबंध है। इस फैसले ने लंबे समय से चली आ रही उस दीर्घकालिक नीति को उलट दिया है जो अत्यंत रूढ़िवादी देश में महिलाओं के दमन का वैश्विक प्रतीक बन गई थी।

Saudia-arabia

इस प्रतिबंध को रद्द करने के लिए विभिन्न अधिकार संगठनों द्वारा लंबे समय तक अभियान भी चलाया गया था, जिस दौरान ड्राइविंग करने को लेकर कई महिलाओं को गिरफ्तार किया गया और जेल भेज दिया गया था।

इस हालिया आदेश से पता चलता है कि सऊदी अपनी छवि सुधारने का किस प्रकार प्रयास कर रहा है जो महिलाओं को सार्वजनिक रूप से गाड़ी चलाने की इजाजत नहीं देने से खराब हुई थी।

ऐसा माना जा रहा है कि विदेशों में सऊदी अरब की छवि पर होने वाले प्रभावों के अलावा महिलाओं को ड्राइविंग करने देने के पीछे का मकसद सऊदी अर्थव्यवस्था में सुधार करना है, जिसमें महिला चालक मददगार हो सकती हैं।

तेल की कम कीमतों ने सरकारी नौकरियों को सीमित कर दिया है जिस पर कई सऊदी लंबे समय से निर्भर रहे हैं और अब देश महिलाओं सहित ज्यादा से ज्यादा नागरिकों को लाभकारी रोजगार देने की कोशिश कर रहा है।

वहीं, अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने सऊदी अरब के इस फैसले का स्वागत करते हुए इसे सही दिशा में उठाया गया क़दम बताया है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें