राजनीति

सीलिंग पर चर्चा में हुआ हंगामा, BJP का AAP पर मारपीट का आरोप

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
738
| जनवरी 30 , 2018 , 13:14 IST

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सीलिंग के मुद्दे पर शुरू हुआ बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। मंगलवार सुबह सीलिंग के मुद्दे पर चर्चा के लिए बीजेपी और आप के नेता दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर पहुंचे। लेकिन, विवाद निपटाने के बजाय दोनों पक्षों आपस में भिड़ गए।

मीटिंग के दौरान खूब हंगामा हुआ और बीजेपी नेता सीएम केजरीवाल के घर ही धरने पर बैठ गए। केजरीवाल के घर के बाहर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी, सांसद रमेश बिधूड़ी, प्रवेश वर्मा और कई विधायकों सहित दो मेयर धरने पर बैठे हुए है।

बीजेपी नेता मनोज तिवारी ने केजरीवाल पर आरोप लगाया है कि वो बातचीत को लेकर गंभीर नहीं है। उन्होंने बातचीत के लिए भारी भीड़ बुला ली। ऐसे में चर्चा करना संभव नहीं है।

बीजेपी नेता मनोज तिवारी ने कहा, हम हंगामा नहीं चाहते थे। इसलिए हमने 20 लोगों का नाम दिया था कि हम मिलना चाहते हैं। हमने बोलना शुरू किया तो उनके विधायक उठ कर कहने लगे कि आप यहां भाषण मत दो।

अपरिपक्वता अरविंद केजरीवाल ने दिखाई है। उन्हें 150 लोगों को बुलाने की क्या जरूरत थी। दिल्ली के प्रदेश अध्यक्ष का आप ने अपमान किया है।

वहीं, केजरीवाल ने पलटवार करते हुए कहा कि इस मसले का समाधान केंद्र के प्रतिनिधि गवर्नर ही कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि उनके पास 4 फाइलें हैं, जिन पर वह साइन नहीं कर रहे हैं। केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार इस पर अध्यादेश भी ला सकती है।

Aap_2296055_835x547-m

अरविंद केजरीवाल ने कहा, कल हमारे पास विजेंद्र गुप्ता की चिट्ठी आई थी कि हम लोग मिलना चाहते हैं। मुझे बेहद खुशी हुई कि हम इस मौके पर बातचीत करेंगे और अपने-अपने दायरे में कदम उठाने पर सहमति बनेगी।

यदि दोनों पार्टियां सही से बात कर लेतीं तो यह मिसाल बन जाता। मुझे दुख है कि वे लोग चले गए। वो अकेले में बात करना चाहते थे। खुले में बात करने की अपील को उन्होंने नहीं सुना।

AAP नेताओं के खिलाफ FIR दर्ज

इस बीच मनोज तिवारी के नेतृत्व में भाजपा के नेताओं ने आप नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। भाजपा विधायक विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल आवास में हमसे बदसलूकी की गई है। इन नेताओं में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी समेत सांसद रमेश बिधूड़ी, प्रवेश वर्मा और विधायकों समेत दो मेयर भी शामिल हैं।

मनोज तिवारी बोले- मारपीट की गई

दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने दावा किया कि उनके साथ आप विधायकों ने मारपीट की। बीजेपी नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने एक वीडियो शेयर करते हुए कहा, 'देखिए किस प्रकार से केजरीवाल के गुंडो ने सीलिंग मुद्दे पर गए नेता विपक्ष विजेंदर सिंह के साथ हाथापाई की।'

केजरीवाल ने कहा SC जाएंगे:

केजरीवाल ने कहा अगर एलजी चाहे तो सीलिंग की कार्रवाई तुरंत रूक सकती है। उन्‍होंने कहा कि इसका समाधान केंद्र या एजली के पास ही है। केजरीवाल ने कहा कि मैंने कई बार एलजी को पत्र लिखा है, लेकिन कोई समाधान नहीं निकला। उन्‍होंने कहा कि इसके समाधान के लिए वह सुप्रीम कोर्ट जाएंगे।

आखिर क्या है सीलिंग विवाद:

2006 में शीला दीक्षित सरकार के कार्यकाल में दिल्ली में सीलिंग शुरू हुई थी। इसके तहत मास्टर प्लान 2021 के लिए रिहायशी इलाकों में कमर्शल गतिविधियों पर रोक का प्रावधान है। इसमें कन्वर्जन का भी प्रस्ताव था, जिसके तहत ऐसी जगहों के लिए कन्वर्जन फीस जमा करा कर लैंड यूज बदलवाया जा सकता है। इस पर कारोबारियों का विरोध है कि उनकी जमी हुई दुकानें खत्म की जा रही है। वहीं, कन्वर्जन चार्ज अधिक होने को लेकर भी आपत्ति जताई जा रही है।

 


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर हैं

कमेंट करें