नेशनल

नोटबंदी से टैक्स चोरी बंद, इकॉनमी में हुआ सुधार- अरुण जेटली

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1568
| नवंबर 8 , 2018 , 16:59 IST

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने नोटबंदी के दो साल पूरे होने पर इसकी उपलब्धियां गिनाईं। जेटली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नोटबंदी के फैसले का बचाव किया। 8 नवंबर 2016 की आधी रात को पांच सौ और हजार रूपये के नोट बैन होने के फैसले पर बोलते हुए जेटली ने कहा कि“अर्थव्यवस्था को दुरूस्त करने की दिशा में सरकार की तरफ से उठाए गए महत्वपूर्ण फैसलों में से एक करार दिया।”

केन्द्रीय वित्तमंत्री ने कहा कि टैक्स व्यवस्था को समझना बड़ा मुश्किल हो गया था। जेटली ने कहा कि नोटबंदी को लेकर गलत आलोचना यह की जा रही है कि सारे पैसे बैंकों में जमकर लिए गए। पैसे की जब्ती करना नोटबंदी का मकसद नहीं था। अर्थव्यवस्था को दुरुस्त करने और कर चुकाना इसके व्यापक लक्ष्य था।” हम चाह रहे थे कि लोग टैक्स के दायरे में आए। हमें कैशलेस इकॉनमी से डिजिटल लेन-देन की दुनिया में आना था. नोटबंदी से ज़्यादा टैक्स रेवेन्यू जमा करने और टैक्स बेस को बढ़ाने में मदद मिल रही है।

उन्होंने कहा- “भारत को कैश से डिजिटल लेनदेन के लिए ले जाने के लिए व्यवस्था दुरूस्त करने की जरूरत थी। वास्तविक तौर पर इसका हायर टैक्स रिवैन्यू और हायर टैक्स बेस पर असर होगा।”


कमेंट करें