नेशनल

ऑपरेशन ऑलआउट: घाटी में 18 महीने में बुरहान समेत 10 आतंकियों का सफाया

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
727
| अक्टूबर 15 , 2017 , 15:06 IST

2015 में कश्मीर में हिजबुल कमांडर बुरहान वानी और उसके 10 साथियों की काफी चर्चा में रही यह तस्वीर अब इतिहास बन गई है। फोटो में दिख रहे 10 आतंकी 18 महीने में सेना के ऑपरेशन ऑलआउट में मारे गए। बुरहान ब्रिगेड का आखिरी आतंकी वसीम अहमद शाह शनिवार को पुलवामा में मारा गया। एक आतंकी तारिक पंडित ने सरेंडर किया। वह जेल में है।

Burhan

ये हैं मारे गए 10 आतंकी

1. नीसर अहमद पंडित

7 अप्रैल 2016 को एनकाउंटर हुआ। पहले पुलिस में था।

2. वसीम मल्लाह

17 अप्रैल 2016 को एनकाउंटर हुआ। शोपियां में तीन पुलिस वालों की हत्या में शामिल था।

3. इशफाक हमीद

7 मई 2016 को एनकाउंटर हुआ। सम्पन्न परिवार का था। 2015 में आतंकी बना।

4. तारिक अहमद पंडित

29 मई 2016 को सरेंडर किया।

5. बुरहान वानी

8 जुलाई 2016 को एनकाउंटर हुआ। पढ़ाई में टॉपर, अच्छा क्रिकेटर भी था। पोस्टर ब्वॉय कहा जाता था। इसकी मौत के बाद कश्मीर में काफी बवाल हुआ।

6. आफाक उल्लाह

28 अक्टूबर, 2016 को एनकाउंटर हुआ। 2015 में आतंकी बना। एमटेक की पढ़ाई की।

7. सद्दाम पैडर

2 फरवरी, 2017 को एनकाउंटर हुआ। बुरहान वानी का सबसे करीबी दोस्त था।

8. सब्जार अहमद भटृ

31 मई 2017 को एनकाउंटर हुआ। बुरहान के बाद हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर बना था।

9. आदिल खांडे

10 सितंबर 2017 को एनकाउंटर हुआ। आतंकी बनने से पहले स्कूल बस चलाता था।

10. वसीम शाह

14 अक्टूबर 2017 को एनकाउंटर हुआ। बुरहान ब्रिगेड का आखिरी आतंकी था।

घाटी में 275 आतंकी सक्रिय

कश्मीर में इस वक्त करीब 275 आतंकवादी एक्टिव हैं। इनमें से 250 तो सिर्फ पीर पंजाल रेंज में हैं। न्यूज एजेंसी ने सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी है। सूत्रों के मुताबिक, 2017 में 291 आतंकियों ने भारत में घुसने की कोशिश की। इनमें से 80 कामयाब हो गए। इस साल 3 अक्टूबर तक सेना ने 150 टेररिस्ट ढेर किए हैं।

कश्मीर में हर दिन हुई एक आतंकी वारदात

कश्मीर और आतंकवाद पर होम मिनिस्ट्री की एक रिपोर्ट सामने आई है। इसके मुताबिक, कश्मीर में 7 महीनों में औसतन हर दिन एक आतंकी वारदात हुई है। रिपोर्ट में कहा गया कि 7 महीनों में मारे गए आतंकियों की तादाद 109 है, जो इस दशक में सबसे ज्यादा है। इससे पहले 2016 में 150 आतंकी मारे गए थे, लेकिन ये आंकड़ा पूरे साल का था।

Army

रिपोर्ट के मुताबिक, अगर पिछले साल हुई आतंकी वारदातों से तुलना करें तो इस साल 23 जुलाई तक इनमें 25 पर्सेंट तक का इजाफा भी दर्ज किया गया है। 1 जनवरी से लेकर 23 जुलाई के बीच घाटी में 184 आतंकी वारदात हुई हैं। पिछले साल इसी दौरान ऐसी 155 वारदात हुई थी, जबकि 2016 में ऐसी कुल 322 आतंकी वारदात हुई थी। 2015 में 208 और 2014 में ऐसी 222 आतंकी वारदात हुई थी।

 

 


कमेंट करें