नेशनल

जम्मू-कश्मीर में हाई अलर्ट, सीमा पर हुई हलचल, बढ़ी फोर्स की तैनाती

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2055
| फरवरी 23 , 2019 , 12:58 IST

जम्मू-कश्मीर राज्य को विशेष अधिकार देने वाले अनुच्छेद 35A पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई से पहले सरकार ने अलगाववादी नेताओं पर नकेल कस दी है। घाची में कई जमात-ए-इस्लामी नेताओं और कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार या हिरासत में लिया गया है। सूबे को हाई अलर्ट पर रखा गया है। सरकार की ये गतिविधियां बताती हैं कि आने वाले दिनों में जम्मू-कश्मीर में कुछ अहम घटनाक्रम देखने को मिल सकता है।

शुक्रवार की शाम को घाटी में सक्रिय अलगाववादी नेता यासीन मलिक को हिरासत में लिया गया है और जमात-ए-इस्लामी के करीब दर्जन भर नेताओं को अरेस्ट किय गया है। एक तरफ सरकार पुलवामा अटैक से जुड़े आतंकियों पर शिकंजा करने की कोशिश में है तो दूसरी तरफ 35A जैसे संवेदनशील मसले पर सोमवार से शुरू हो रही सुनवाई को लेकर भी तैयारियां की जा रही हैं।

सुप्रीम कोर्ट की ओर से यदि 35A को हटाने या फिर उसमें बदलाव जैसा आदेश आता है तो कट्टरपंथियों की ओर से घाटी में बवाल की आशंका है। ऐसे में सरकार ने ऐहतियात के तौर पर उन्हें गिरफ्तार करने या फिर नजर रखने जैसे कदम उठाए हैं।

इसी के मद्देनजर सरकार ने जम्मू-कश्मीर में तत्काल प्रभाव से अर्धसैनिक बलों की 100 अतिरिक्त कंपनियों को तैनात किया है। इसमें 45 सीआरपीएफ, 35 बीएसएफ, 10 एसएसबी और 10 आईटीबीपी की कंपनियां शामिल हैं।

एक तरफ भारत ने सीमा समेत पूरे राज्य में निगरानी बढ़ा दी है तो वहीं सीमा पार पाकिस्तान भी युद्ध जैसी कारर्रवाई के डर से सहमा हुआ है। मीडिया में आ रही खबरों की माने तो हाल ही में पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने एलओसी का दौरा किया और हालात का जायजा लिया। पाकिस्तान ने अपने कब्जे वाले कश्मीर के लोगों को बेवजह ही घरों से बाहर निकलने और रात में लाइटें न जलाने तक हिदायत दी है।


कमेंट करें