नेशनल

शिया वक्फ बोर्ड की PM से मांग, कहा- हुमायूं का मकबरा गिराकर कब्रिस्तान बनाया जाए

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
487
| अक्टूबर 26 , 2017 , 08:17 IST

शिया सेंट्रल वक्‍फ बोर्ड ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र मांग की है कि हुमायूं का मकबरा गिरा कर कब्रिस्‍तान के लिए जमीन दी जाए, क्योंकि उनके पास दफनाने को जमीन नहीं बची है। पीएम मोदी को ये पत्र उत्तर प्रदेश शिया सेन्ट्रल वक्‍फ बोर्ड के अध्यक्ष सैयद वसीम रिजवी ने लिखा है।

बोर्ड ने पत्र में कहा है कि, हुमायूं के मकबरे की जमीन को दिल्ली के मुसलमानों को कब्रिस्तान के लिए दी जाए, क्योंकि उनके पास दफनाने के लिए जमीन नहीं बची है। बोर्ड ने पत्र में कहा है कि हुमायूं का मक़बरा धार्मिक इमारत नहीं, एक कब्र है। उसे राष्ट्र धरोहर की सूची से हटा कर ध्वस्त किया जाना चाहिए।

Letter

बोर्ड ने कहा है कि हुमायूं के मकबरे की करीब 35 एकड़ जमीन है, उसे कब्रिस्‍तान के लिए दिया जाए ताकि इस समस्या का समाधान हो सके।

पत्र में आगे लिखा गया है कि, मुगल दूसरे देशों से भारत को लूटने आए थे, जिन्होंने भारत में रहकर राजाओं से उनके राज-पाठ को छीन लिया और उनके साथ लूटपाट कर यहां के बादशाह बन गए। मुगल यहां रहकर लोगों की खून-पसीने की कमाई से लगान वसूल करने लगे और यहां हुकूमत की। मुगलों ने पुरानी भारतीय संस्कृतियों को बहुत नुकसान पहुंचाया है।

शिया वक्फ बोर्ड का कहना है कि मुगल बादशाह इस्लाम धर्म के प्रचारक नहीं थे और न ही भारत के लिए अच्छे बादशाह थे, इसलिए हिंदुस्तान में बने उनके अनेक भव्य मकबरे राष्ट्र की धरोहर नहीं हो सकते।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें