नेशनल

ब्रिज के लिए शिवसेना सांसदों ने लिखे थे 'प्रभु' को पत्र, सही कराने से किया था इनकार

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
724
| सितंबर 29 , 2017 , 17:52 IST

मुंबई के एलफिंस्टन रेलवे ब्रिज पर ज्यादा भीड़ की वजह से भगदड़ मच गई। जिसके कारण 22 लोगो की मौत और 30 लोग घायल हो गए। अब इस हादसे पर बड़ा खुलासा हुआ है। शिवसेना के दो सांसदों ने 2015-16 में इस ब्रिज को चौड़ा करने के लिए चिट्ठी लिखी थी, जिसके जवाब में उस समय के रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा था कि रेलवे के पास इसके लिए फंड नहीं है। उन्होंने कहा था कि ग्लोबल मार्केट में मंदी है, आपकी शिकायत तो सही है लेकिन अभी फंड की कमी है।हालांकि शिवसेना विधायकों का कहना है कि इस पूरे काम में काफी पैसा खर्च नहीं होना था।

शिवसेना सांसद राहुल शिवाले ने 23 अप्रैल 2015 को सुरेश प्रभु को पत्र लिखकर फुट ओवरब्रिज को चौड़ा करने की मांग की थी। इसके अलावा अन्य शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने भी फरवरी 2016 में प्रभु को चिट्ठी लिखकर मांग को दोहराया था। उस दौरान सुरेश प्रभु ने फंड की कमी और वैश्विक मंदी का हवाला देकर कहा था कि आपकी मांग जायज है लेकिन अभी फंड नहीं है इसलिए मदद नहीं की जा सकती है

इतना ही नहीं संतोष अंधले नाम के एक व्यक्ति ने बुधवार को ट्विटर और फेसबुक पर रेल मंत्री पियुष गोयल को पोस्ट किया था और उन्होंने सरकार से कहा था कि वे एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन के बीच बने फुटओवर ब्रिज का कुछ करें। पश्चिमी रेलवे ने संतोष को दो बार जवाब भी दिया।

पश्चिमी रेलवे ने उनसे पुल के स्थान के बारे में पूछा। इसके बाद संतोष ने इसकी जानकारी भी दी। फिर पश्चिमी रेलवे ने उन्हें बताया कि यह मामला केंद्रीय रेलवे को भेज दिया गया है। लेकिन इसके बाद ही शुक्रवार को मुंबई के एलफिंस्टन रेलवे ब्रिज पर यह घटना हुई जिसके कारण 22 लोगो की मौत और 30 लोग घायल हो गए।

लगातार इस मामले में कई रिपोर्ट भी प्रकाशित हुई, लेकिन रेलवे पर कोई असर नहीं पड़ा। अब रेलवे के आला अधिकारी से लेकर रेल मंत्री पीयूष गोयल इस घटना की जांच करवाने की बात कह रहे है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें