मनोरंजन

'तारक मेहता..' को बैन करने पर निर्माताओं और कलाकारों ने दी सफाई, कहा ये

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
795
| सितंबर 19 , 2017 , 15:44 IST

हाल ही में 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' को शो को बैन करने की मांग की गई है। दरअसल दरअसल शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) ने 'तारक मेहता' पर 'ईशनिंदक' सीन दिखाने का आरोप लगाया है। सिख समुदाय द्वारा सब टीवी के तारक मेहता का उल्टा चश्मा पर प्रतिबंध लगाने के विरोध में, इसके निर्माताओं और अभिनेताओं ने एकजुट आवाज़ उठाई है।

Mediacc95tappu

एसजीपीसी प्रमुख कृपाल सिंह बादुंगर ने कहा कि शो ने सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह के जीवित स्वरूप का चित्रण कर समुदाय को ठेस पहुंचाई और ऐसा करना ‘‘सिख सिद्धांतों के खिलाफ’’ है। बादुंगर ने कहा, ‘‘कोई भी अभिनेता या कोई भी चरित्र खुद की दसवें सिख गुरु गोविंद सिंह के साथ समानता नहीं कर सकता। यह गलती माफ नहीं की जा सकती है।’’

तारक मेहता का उल्टा चश्मा के निर्माताओं और कलाकारों ने स्पष्ट किया है कि अभिनेता गुरचरण सिंह खुद दसवें गुरु के रूप में नहीं बने थे, बल्कि वह गुरु गोविंद सिंह के सैनिक की भूमिका में थे।

शो के ऑफिशियल ट्विटर अकांउट के जरिेए गुरुचरण सिंह के एक फोटो के जरिए संदेश दिया गया है। इस पोस्ट में लिखा गया है कि "टीएमकेओसी के एपिसोड 2287 में, सोढ़ी को गुरु गोबिंद सिंह के खालसा के रूप में तैयार किया गया था। हम दर्शकों से अनुरोध करते है कि वह इसे किसी और तरीके से ना ले।

 


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें