नेशनल

राम मंदिर पर रवि शंकर की मध्यस्थता की बात का बाबरी ऐक्शन कमिटी ने किया खंडन

icon अमितेष युवराज सिंह | 0
191
| अक्टूबर 28 , 2017 , 12:31 IST

अयोध्या विवाद में सुलह की पहल पर जारी अटकलों के बीच श्री श्री रवि शंकर ने कहा, 'हालात अब बदल गए हैं। लोग शांति चाहते हैं।' रवि शंकर ने कहा, 'हमें एक मंच की जरूरत है जहां दोनों समुदाय के लोग भाईचारे की अहमियत को दिखा सकें।' आर्ट ऑफ लिविंग संस्थापक ने बताया, 'इससे पहले 2003-04 में भी कोशिशें हुए थी लेकिन आज माहौल ज़्यादा सकारात्मक हैं। मैं अपनी क्षमता के हिसाब से काम कर रहा हूं। यह गैर-राजनीतिक है।'

इससे पहले बाबरी एक्शन कमेटी ने शुक्रवार को इस बात का खंडन करते हुए कहा था उनकी इस मामले में रविशंकर से कोई मुलाकात नहीं हुई है। बाबरी एक्शन कमेटी के सदस्य हाजी महबूब ने कहा था, 'काफी पहले रवि शंकर के मध्यस्थों में से एक ने कहा था कि वह मुझसे बात करना चाहता है और मैंने इसका स्वागत किया। संभव हो कि उन्होंने हिंदू प्रतिनिधियों से भी बात की हो लेकिन उन्होंने हमसे कभी कोई बात नहीं कि और न ही कोई मैसेज दिया है।'

हाजी महबूब ने कहा, 'अगर वह हमसे बात करना चाहते हैं तो हमें बात करने में और मामला सुलझाने में कोई समस्या नहीं है।' यह खंडन उन ख़बरों के बाद आया था  जिसमें कहा जा रहा था कि श्री रविशंकर ने अयोध्या विवाद के खिलाफ कानूनी लड़ाई पर चर्चा के लिए निर्मोही आखाड़ा और अखिल भारतीय मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) के प्रतिनिधियों से मुलाकात की है। आपको बता दें कि कोर्ट में इस मामले पर अगली सुनवाई 5 दिसंबर को होनी है।


author
अमितेष युवराज सिंह

लेखक न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया में असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव एडिटर हैं

कमेंट करें