नेशनल

कोलकाता में तोड़ी गई श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति, पोती गई कालिख

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1384
| मार्च 7 , 2018 , 14:06 IST

कोलकाता में वाममोर्चा के एक छात्र संगठन के सदस्यों ने बुधवार को कथित तौर पर भारतीय जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा क्षतिग्रस्त कर दी और प्रतिमा के चेहरे पर कालिख पोत दी। पश्चिम बंगाल भाजपा ने यह कहा। पुलिस ने केओराटोला कब्रिस्तान में हुई इस घटना के मामले में समूह के छह सदस्यों को हिरासत में ले लिया है।

 राज्य में भाजपा नेतृत्व ने इस घटना की निंदा की है और अपराधियों के खिलाफ सख्त कदम उठाने की मांग करते हुए कहा कि बंगाल की राजनीति में मुखर्जी के योगदान को मिटाया नहीं जा सकता।

पश्चिम बंगाल भाजपा के महासचिव सयांतन बसु ने एक बयान में कहा, "हम डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त करने के कृत्य की निंदा करते हैं और अपराधियों के खिलाफ सख्त कदम उठाने की मांग करते हैं और साथ ही यह संदेश भी देना चाहते हैं कि आप इस शर्मनाक कृत्य से पश्चिम बंगाल के निर्माण में मुखर्जी के योगदान को मिटा नहीं सकते।"

उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा मुखर्जी की प्रतिमा का और शानदार ढंग से दोबारा निर्माण करेगी। गौरतलब है कि प्रतिमाओं को गिराने का यह सिलसिला सोमवार को त्रिपुरा में लेनिन की प्रतिमा ढहाए जाने के बाद शुरू हुआ, जिसके बाद तमिलनाडु में द्रविड़ आंदोलन के संस्थापक ई.वी.आर.रामासामी की प्रतिमा ढहा दी गई और अब कोलकाता में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा को नष्ट किया गया।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने देश भर में अलग-अलग विचार पुरुषों की मूर्तियां तोड़े जाने की निंदा की है। उन्होंने कहा है कि हम एक पार्टी के रूप में किसी की प्रतिमा के तोड़े जाने का समर्थन नहीं करते हैं। उन्होंने कहा है कि हमने त्रिपुरा और तमिलनाडु में अपनी पार्टी इकाई को निर्देश दिया है कि इस तरह की घटनाओं में भाजपा से जुड़ा कोई कार्यकर्ता शामिल हो तो उसके खिलाफ कार्रवाई करें। उल्लेखनीय है कि त्रिपुरा में लेनिन और तमिलनाडु में पेरियार की मूर्ति तोड़ने का आरोप भाजपा कार्यकर्ताओं पर लगा था।


कमेंट करें