नेशनल

केरल में बारिश: धीरे-धीरे सुधर रहे हैं हालात, राहत कार्यों में आई तेजी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2221
| अगस्त 19 , 2018 , 13:52 IST

केरल में शुक्रवार और शनिवार को बारिश में कमी के बाद अब हालात धीरे-धारे सुधर रहे हैं। सरकार मे 14 जिलों से रेड अलर्ट हटा लिया है। बारिश में कमी के साथ ही राहत कार्यों में तेजी आई है। हालांकि भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक एर्नाकुलम, पथनमथिट्टा और अलप्पुझा जिले के कई इलाकों में भारी बारिश हो सकती है।

बारिश में कमी और केंद्र एवं राज्य सरकार की ओर से राहत कार्य में तेजी आने से हालात सुधरे हैं। सेना और प्रशासन की ओर लोगों को राहत सिविरों में भेजा जा रहा है। बाढ़ की विभीषिका के चलते मई से अब तक मरने वालों की संख्या 350 के पार हो गई है। 9 अगस्त के बाद से 196 लोगों की मौत हो चुकी है। शनिवार को ही 22 लोग बाढ़ के चलते असमय काल के गाल में समा गए।

शनिवार को एर्नाकुलम, त्रिसूर, इडुक्की, पथनमथिट्टा और चेनगन्नूर जिले सबसे ज्यादा प्रभावित रहे और इन्हीं इलाकों में 22 लोगों की मौत हो गई। अलुवा, चालकुडी, चेनगन्नूर, अलप्पुझा और पथनमथिट्टा में बाढ़ ने सबसे ज्यादा कहर बरपाया है। एनडीआरएफ, आर्मी, नेवी और कोस्ट गार्ड यहां पूरी मुस्तैदी से बचाव एवं राहत कार्य में जुटे हुए हैं।

शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरै किया था और केंद्र सरकार की और से 500 करोड़ की मदद का एलान किया। इसके साथ ही इस त्रासदी में जान गवांने वालों के परिजनों को 2-2 लाख और घायलों को 50000 रुपये देने का एलान किया है।

उधर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम को 500 करोड़ की राहत देने के कदम की सराहना की है। साथ ही राहुल गांधी ने केंद्र की ओर से जारी की गई राहत राशि को कम बताया है और केरल की बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग की है।

वहीं केंद्रीय गृहराज्यमंत्री किरण रिजीजू ने राहुल गांधी के ट्वीट का जवाब देते हुए राजनीति ना करने की अपील की है। किरण ने अपने ट्वीट में लिखा है कि आपदा के समय हम सब को एक होना चाहिए, राजनीति नहीं करनी चाहिए।

 


कमेंट करें