खेल

दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज कगीसो रबाडा को मिली क्लीन चिट, खेलेंगे अगला मैच

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1092
| मार्च 20 , 2018 , 16:31 IST

दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज कगीसो रबाडा को गुरुवार से केपटाउन में आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जाने वाले तीसरे टेस्ट मैच के लिए क्लीन चिट मिल गई है। रबाडा पर लगे दो टेस्ट मैचों के प्रतिबंध को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) आचार संहिता आयुक्त माइकल हेरॉन ने हटा दिया है।

आईसीसी द्वारा आस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ के साथ गलत व्यवहार के कारण रबाडा पर दो मैचों का प्रतिबंध लगा था।

रबाडा के मामले पर सोमवार को छह घंटे से भी अधिक समय तक वीडियो कांफ्रेंस के जरिए सुनवाई की गई थी। इसमें रबाडा की ओर से डाली पोफु वकालत कर रहे है।

मामले की सुनवाई के बाद अपना फैसला सुनाते हुए न्यायाधीश हेरॉन ने कहा कि वह इस बात से संतुष्ट नहीं है कि स्मिथ के साथ मैच के दौरान रबाडा का कंधे से टकराना जानबूझ कर किया गया और गलत काम था।

हेरॉन ने कहा, "सबसे मुख्य मुद्दा यह है कि क्या यह रबाडा ने जानबूझ कर किया था। मैं इससे संतुष्ट नहीं हूं कि उन्होंने जानबूझ कर किया था और इसलिए, मैं उन्हें आचार सहिता 2.2.7 का जिम्मेदार नहीं मानता हूं।"

न्यायाधीश हेरॉन ने कहा, "मेरा मानना यह है कि अनुच्छेद 2.1.1 के उल्लंघन के लिए रबाडा पर लगा मैच फीस का 25 प्रतिशत जुर्माना उपयुक्त दंड है। ऐसे में रबाडा अब नियमों के उल्लंघन के परिणामों से भलिभांति परिचित हो जाएंगे।"

इस फैसले पर अपने एक बयान में आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन ने कहा किर आईसीसी पूरी तरह से इस फैसले को स्वीकार करती है और वह कम समय में इस मामले की सुनवाई के लिए हेरॉन का शुक्रिया अदा करना चाहते हैं।

Rabada_130318_a_env

दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज कगीसो रबाडा को गुरुवार से केपटाउन में आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जाने वाले तीसरे टेस्ट मैच के लिए क्लीन चिट मिल गई है। रबाडा पर लगे दो टेस्ट मैचों के प्रतिबंध को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) आचार संहिता आयुक्त माइकल हेरॉन ने हटा दिया है।

आईसीसी द्वारा आस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ के साथ गलत व्यवहार के कारण रबाडा पर दो मैचों का प्रतिबंध लगा था।

रबाडा के मामले पर सोमवार को छह घंटे से भी अधिक समय तक वीडियो कांफ्रेंस के जरिए सुनवाई की गई थी। इसमें रबाडा की ओर से डाली पोफु वकालत कर रहे है।

मामले की सुनवाई के बाद अपना फैसला सुनाते हुए न्यायाधीश हेरॉन ने कहा कि वह इस बात से संतुष्ट नहीं है कि स्मिथ के साथ मैच के दौरान रबाडा का कंधे से टकराना जानबूझ कर किया गया और गलत काम था।

हेरॉन ने कहा, "सबसे मुख्य मुद्दा यह है कि क्या यह रबाडा ने जानबूझ कर किया था। मैं इससे संतुष्ट नहीं हूं कि उन्होंने जानबूझ कर किया था और इसलिए, मैं उन्हें आचार सहिता 2.2.7 का जिम्मेदार नहीं मानता हूं।"

न्यायाधीश हेरॉन ने कहा, "मेरा मानना यह है कि अनुच्छेद 2.1.1 के उल्लंघन के लिए रबाडा पर लगा मैच फीस का 25 प्रतिशत जुर्माना उपयुक्त दंड है। ऐसे में रबाडा अब नियमों के उल्लंघन के परिणामों से भलिभांति परिचित हो जाएंगे।"

इस फैसले पर अपने एक बयान में आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन ने कहा किर आईसीसी पूरी तरह से इस फैसले को स्वीकार करती है और वह कम समय में इस मामले की सुनवाई के लिए हेरॉन का शुक्रिया अदा करना चाहते हैं।

दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज कगीसो रबाडा को गुरुवार से केपटाउन में आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जाने वाले तीसरे टेस्ट मैच के लिए क्लीन चिट मिल गई है। रबाडा पर लगे दो टेस्ट मैचों के प्रतिबंध को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) आचार संहिता आयुक्त माइकल हेरॉन ने हटा दिया है।

आईसीसी द्वारा आस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ के साथ गलत व्यवहार के कारण रबाडा पर दो मैचों का प्रतिबंध लगा था।

रबाडा के मामले पर सोमवार को छह घंटे से भी अधिक समय तक वीडियो कांफ्रेंस के जरिए सुनवाई की गई थी। इसमें रबाडा की ओर से डाली पोफु वकालत कर रहे है।

मामले की सुनवाई के बाद अपना फैसला सुनाते हुए न्यायाधीश हेरॉन ने कहा कि वह इस बात से संतुष्ट नहीं है कि स्मिथ के साथ मैच के दौरान रबाडा का कंधे से टकराना जानबूझ कर किया गया और गलत काम था।

हेरॉन ने कहा, "सबसे मुख्य मुद्दा यह है कि क्या यह रबाडा ने जानबूझ कर किया था। मैं इससे संतुष्ट नहीं हूं कि उन्होंने जानबूझ कर किया था और इसलिए, मैं उन्हें आचार सहिता 2.2.7 का जिम्मेदार नहीं मानता हूं।"

न्यायाधीश हेरॉन ने कहा, "मेरा मानना यह है कि अनुच्छेद 2.1.1 के उल्लंघन के लिए रबाडा पर लगा मैच फीस का 25 प्रतिशत जुर्माना उपयुक्त दंड है। ऐसे में रबाडा अब नियमों के उल्लंघन के परिणामों से भलिभांति परिचित हो जाएंगे।"

इसे भी पढ़ें-: ICC T20 रैंकिंग: चहल की ऊंची छलांग,पहली बार बने नंबर 2, सुंदर 31वें स्थान पर

इस फैसले पर अपने एक बयान में आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन ने कहा किर आईसीसी पूरी तरह से इस फैसले को स्वीकार करती है और वह कम समय में इस मामले की सुनवाई के लिए हेरॉन का शुक्रिया अदा करना चाहते हैं।


कमेंट करें