नेशनल

सवालों के घेरे में START-UP INDIA, एक साल में सिर्फ 5.66 करोड़ का फंड हुआ खर्च

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
552
| फरवरी 26 , 2017 , 20:55 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2015 को लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते हुए कहा था कि उन्होंने 'स्टार्टअप्स' के लिए 10,000 करोड़ का फंड रखा है। लेकिन इस घोषणा के एक साल से ज्यादा समय बीत जाने के बाद भी सरकार अभी भी इसके कुल फंड में से मात्र 5.66 करोड़ ही खर्च कर पाई है।

Sp 1

बिजनेस अख़बार बिजनेस स्टैंडर्ड को 8 फ़रवरी को भारतीय लघु औद्योगिक विकास बैंक (SIDBI) ने आरटीआई के जरिये ये जानकारी दी। बता दें कि सरकार की ओर से स्‍टार्टअप्‍स के लि‍ए 10 हजार करोड़ रुपए का फंड बनाया गया था जि‍से सि‍डबी (SIBDI) मैनेज कर रहा है। यह फंड सेबी रजि‍स्‍टर्ड वीसी फंड्स में इन्‍वेस्‍ट करेगा जो भी बाद में स्‍टार्टअप्‍स में इन्‍वेस्‍ट करेगा।

Sp 2

एक फरवरी को पेश किए गए 2017-18 के बजट में स्टार्ट अप्‍स के लिए इस मद में कोई प्रावधान नहीं किया गया है। इस कोष की शुरुआत के समय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा था कि इससे स्टार्ट-अप्‍स और एमएसएमई में हजारों करोड़ रुपए का इक्विटी निवेश करने में मदद मिलेगी।

साल 2016 में 200 से ज्यादा स्टार्टअप बंद

साल 2016 में ही देश में स्टार्टअप का हाल यह रहा कि तकरीबन 212 स्टार्टअप का सफर समाप्त हो गया। इनमें ज्यादातर की समस्या फंडिंग रही। डेटा एनालिटिक्स फर्म ट्रैक्सन (Tracxn) का दावा है कि बंद हुए स्टार्टअप की यह संख्या साल 2015 से 50 फीसदी ज्यादा है।

रिपोर्ट के अनुसार साल 2013 से लेकर साल 2015 में शुरू हुए ज्यादातर स्टार्टअप बंद हो गए। इनमें ऑनलाइन कूरियर वाली पार्शल्ड, लॉन्ड्रिंग सर्विस देने वाली डोरमिंट भी शामिल हैं।

Pm modi 1


कमेंट करें