ख़ास रिपोर्ट

Statue Of Unity: दुनिया के सबसे ऊंचे 'सरदार', जानिए लागत और विशेषताएं

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2017
| अक्टूबर 31 , 2018 , 07:38 IST

गुजरात के नर्मदा जिले में सरदार सरोवर डैम पर स्टैचू ऑफ यूनिटी बनकर तैयार है। जल्द ही यह आपके दीदार के लिए खोल दिया जाएगा। 31 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को एकसूत्र में पिरोनेवाले सरदार वल्लभ भाई पटेल की इस 182 मीटर ऊंची गगनचुंबी प्रतिमा का लोकार्पण करेंगे। यह बात सभी जानते हैं कि यह दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा है।

आइए, जानते हैं इस खास स्टैचू के बारे में सबकुछ

इस स्टैचू के दीदार के लिए देश और दुनिया के लोग आएंगे। इस वजह से आसपास के परिसर को टूरिस्ट स्पॉट बनाने का भी इंतजाम किया गया है

स्टैचू से तीन किलोमीटर की दूरी पर एक टेंट सिटी बनाई गई है, जहां आप रात भर रुक सकते हैं

स्टैचू में लेजर लाइटिंग की व्यवस्था की गई है, जिससे इसकी रौनक दिन-रात भर बराबर बनी रहेगी

स्टैचू के नीचे एक म्यूजियम है, जहां पर सरदार पटेल की स्मृति से जुड़ी कई चीजें रखी जाएंगी

हाई स्पीड लिफ्ट से लैस है स्टैचू

स्टैचू के अंदर दो हाई स्पीड लिफ्ट लगी हैं। स्टैचू की छाती के पास झरोखे बने हुए हैं, जहां से आप सरदार सरोवर डैम को पूरा देख पाएंगे

और 300 रुपये में पहुंच जाएंगे इतनी ऊंचाई पर

स्टैचू की छाती की ऊंचाई तक पहुंचने के लिए आपको 300 रुपये फीस अदा करनी होगी

मल्टी फर्म कंसोर्टियम को मिला था ठेका

इस प्रतिमा को 2,989 करोड़ रुपये की लागत से तैयार किया गया है। साल 2014 में गुजरात सरकार ने कंस्ट्रक्शन का ठेका एक मल्टी-फर्म कंसोर्टियम को सौंप दिया था

बुर्ज खलीफा बना चुकी है कंसोर्टियम

इस कंसोर्टियम में माइकल ग्रेव्स आर्किटेक्चर ऐंड डिजाइन और टर्नर कंस्ट्रक्शन, जो इससे पहले दुनिया की सबसे ऊंची इमारत 'बुर्ज खलीफा' बना चुकी है

चार स्टेज में बांटकर किया गया है काम

इसके कंस्ट्रक्शन को चार स्टेज में बांटकर काम किया गया, जिनमें मॉक-अप, 3डी स्कैनिंग टेक्निक के साथ ही कंप्यूटर न्यूमेरिकल कंट्रोल प्रॉडक्शन टेक्निक, स्पाइनल स्ट्रक्चर शामिल है।

 

 


कमेंट करें