नेशनल

हिन्दू संगठनों ने सुनाया फरमान, बेंगलुरु में आधी रात के बाद नहीं मनेगा जश्न

icon सतीश कुमार वर्मा | 0
174
| दिसंबर 29 , 2017 , 18:27 IST

बेंगलुरु में हर साल न्यू ईयर की रात एक अलग नज़ारा देखने को मिलता है। यहां नए साल का स्वागत बड़े ही रोमांचक अंदाज़ में मनाया जाता है। लेकिन पिछले साल 31 दिसंबर की रात नए साल की पार्टी के दौरान साइबर सिटी बेंगलुरु में जो हुआ उसने पूरे देश भुला नहीं पाया है। बेंगलुरु में सरेआम सामूहिक रूप से लड़कियों से साथ बदसलूकी, छेड़खानी की घटना ने पूरे देश को शर्मसार कर दिया। इन्ही चीज़ो को देखते हुए हिन्दू संगठनों ने बड़ा कदम उठाया है।

शहर में आधी रात के के बाद नए साल के जश्न मनाने पर रोक लगा दी गई है। बजरंग दल, वीएचपी ने आधी रात से पहले होटलों को बंद करने की चेतावनी है। उनका मानना है कि नए साल के जश्न में ड्रग्स और सेक्स परोसी जाती है। ऐसे में इन पार्टियों ने इन चीजों को बढ़ावा मिलता है।

अपने प्रस्ताव को अमल कराने के लिए इन दलों ने कर्नाटक पुलिस से संपर्क किया। हालांकि कर्नाटक सरकार ने उनकी मांगों को ठुकरा दिया है। कर्नाटक के गृहमंत्री रामलिंगा रेड्डी ने कहा कि बजरंग दल और वीएचपी को ये फैसला करने का अधिकार नहीं है कि जश्न कब तक चले और कब खत्म हो।

बेंगलुरु पुलिस ने नए साल पर एक्ट्रेस सनी लियोनी के म्यूजिकल शो को भी रद्द करवा दिया है। पुलिस का कहना है कि नए साल के जश्न के दौरान किसी अप्रिय घटना से बचने के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए जाएंगे। ऐसे में सनी लियोनी के कार्यक्रम को लेकर विशेष ध्यान नहीं दिया जा सकता है। ऐसे में सनी के आयोजन को अनुमति नहीं दी गई है।

पिछले साल नए साल के जश्न के दौरान महिलाओं के साथ हुई सामूहिक छेड़छाड़ की वारदात के बाद इस साल ने शहर में सुरक्षा सख्त कर दी है। भीड़-भाड़ वाली जगहों की निगरानी के लिए ड्रोन कैमरों का इस्तेमाल किया गया है।


author
सतीश कुमार वर्मा

लेखक न्यूज वर्ल्ड इंडिया में वेब जर्नलिस्ट हैं

कमेंट करें