नेशनल

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा हज पर GST क्यों ?

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
762
| जनवरी 11 , 2018 , 19:03 IST

हज यात्रा पर 9 फीसदी जीएसटी लगाए जाने पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से अपना पक्ष रखने को कहा है। बता दें सुप्रीम कोर्ट में दाखिल एक याचिका में हज यात्रा को जीएसटी से छूट देने की अपील की गई है। जिसके बाद इसी याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के अधिवक्ता अटॉर्नी जनरल से इस बारे में जवाब देने को कहा। 

जानकारी के लिए बता दें सुप्रीम कोर्ट में दाखिल इस अपील में कहा गया है कि हज एक धार्मिक यात्रा है और इस पर भी जीएसटी लगाया गया है क्यों ? इस पर जीएसटी नहीं होना चाहिए। इसका प्रस्ताव केंद्र सरकार के  अल्पसंख्यक मंत्रालय ने अक्टूबर 2017 में लाया था।

The-kaaba-at-masjid-al-haram-mosque_d5e0aac2-3fc2-11e7-a718-97a052f84fc6

जिसके बाद से मुस्लिम तबकों में इस नीति का विरोध लगातार हो रहा है। एक अनुमान की माने तो जीएसटी लगने के बाद हज यात्रा पहले के मुकाबले 20 हजार रुपए या इससे भी ज्यादा महंगी हो सकती है।

Haj-picture

आगर यह नीति नहीं बदली तो इसके के तहत हर साल हज और उमराह पर जाने वाले यात्रियों की जेब पर खासा बोझ देखा जा सकता है। बता दें हज कमेटी का कुल कोटा 1 लाख 70 हजार यात्रियों का होता है। जिसमे से सरकार और प्राइवेट टूर ऑपरेटर के बीच 70:30 के अुनपात में बंटवारा किया जाता है।

Haj

इसके अलावा, केंद्र सरकार ने एक और व्यवस्था की है जिसमे है कि, भारतीय महिलाएं बिना किसी पुरुष के भी हज पर जा सकेंगी। इन महिलाओं के लिए सऊदी अरब में ठहरने के लिए दूसरी इमारतों में व्यस्था की गयी है।  इतना ही नहीं इसके यातायात की व्यवस्था भी की गई है।


कमेंट करें