नेशनल

अब RO के पानी से होगा महाकाल ज्योतिर्लिंग का जलाभिषेक, SC ने दिया आदेश

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1361
| अक्टूबर 27 , 2017 , 20:43 IST

सुप्रीम कोर्ट ने उज्जैन स्थित महाकाल ज्योतिर्लिंग के जलाभिषेक के लिए नए नियमों को मंजूरी दे दी है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मुताबिक महाकाल शिवलिंग का जलाभिषेक आरओ वॉटर से होगा। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने यह आदेश शिवलिंग का आकार छोटा (क्षरण) होने को लेकर दायर याचिका पर दिया है।

इसके साथ ही कोर्ट ने निर्देश दिए कि भस्मारती के दौरान शिवलिंग ढंका रहेगा। मामले में अगली सुनवाई अब 30 नवंबर को होगी। इतना ही नहीं बल्कि कोर्ट के निर्देश पर पिछले दिनों पुरातत्व विभाग, भूवैज्ञानिकों और अन्य विशेषज्ञों की टीम ने महाकाल का दौरा कर शिवलिंग, पानी, फूल, दूध सहित तमाम पहलुओं की जानकारी जुटाई थी।

Maha

इस टीम ने जांच कर कोर्ट को जानकारी दी थी कि पूजा के दौरानमहाकाल में चढ़ाई जा रही कुछ चीजों से शिवलिंग को क्षति पहुंच रही है। जिनमें कुंड का पानी भी शामिल है। बता दें कि जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने पानी की मात्रा भी तय कर दी है। अब से भक्त आधा लीटर पानी ही अपने साथ लेकर जा सकेंगे और दुग्धाभिषेक के लिए सवा लीटर की मात्रा तय की यानी की 1.25 लीटर।

सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिए कि शिवलिंग पर चीनी पाउडर लगाने की इजाज़त नहीं होगी, बल्की खांडसारी के इस्तेमाल को बढ़ावा दिया जाएगा। नमी से बचाने के लिए ड्रायर व पंखे लगाए जाएंगे और बेलपत्र व फूल-पत्ती शिवलिंग के ऊपरी भाग में चढ़ेंगे, ताकि शिवलिंग के पत्थर को प्राकृतिक सांस लेने में कोई दिक्कत न हो।

Jadkas

इसके साथ ही शाम 5 बजे के बाद अभिषेक पूरा होने पर शिवलिंग की पूरी सफाई होगी और इसके बाद सिर्फ सूखी पूजा होगी। अभी तक सीवर के लिए चल रही तकनीक आगे भी चलती रहेगी, क्योंकि सीवर ट्रीटमेंट प्लांट बनने में एक साल लगेगा।


कमेंट करें