नेशनल

सुब्रत रॉय से छिनी 39000 करोड़ की एंबी वैली, सुप्रीम कोर्ट ने दिए अटैच करने के आदेश

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2030
| फरवरी 6 , 2017 , 11:38 IST

सेबी-सहारा विवाद में सहारा प्रमुख सुब्रत राय को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने सहारा की एंबी वैली को जब्त करने के आदेश दिए हैं। एंबी वैली की कीमत 39 हजार करोड़ आंकी गई है। एंबी वैली फिलहाल कोर्ट के पास अटैच रहेगी। एंबी वैली मुंबई के पास लोनावला शहर से कुछ दूरी पर है, सहारा की ये प्रॉपटी खूबसूरत नजारों, आलीशान बंगलों और विला के लिए पूरी दुनिया में मश्हूर है। 

925062625s

अदालत ने सहारा से उन संपत्तियों की लिस्ट मांगी जिन पर विवाद नहीं है, ताकि उनकी नीलामी हो सके। कोर्ट ने 20 फरवरी तक यह लिस्ट देने के आदेश दिए हैं।

44796985

कोर्ट ने साथ ही यह भी कहा है कि जब तक आप रुपये देते रहेंगे, हम आपको वापस जेल नहीं भेजेंगे। इसके साथ ही सहारा की पैरोल भी बढ़ा दी गई है। सहारा प्रमुख की ओर से सेबी को 600 करोड़ रुपये जमा कराए गए। इस मामले में अगली सुनवाई 27 फरवरी को होगी। कोर्ट ने कहा कि पहले मूलधन को देखेंगे उसके बाद ब्याज पर बात करेंगे। सेबी ने कोर्ट को बताया कि अभी सहारा पर 14,779 करोड़ रुपए बकाया हैं। अदालत के कई बार फटकार लगाने के बाद भी सहारा निवेशकों को पैसा लौटाने से आनाकानी कर रहा है।

Download (14)

गौरतलब है कि पिछली सुनवाईं के दौरान कोर्ट ने सुब्रत राय को 6 फरवरी तक 600 करोड़ रुपया जमा करने का आदेश दिया था। अदालत ने कहा कि अगर पैसे जमा नहीं हुए तो सहारा प्रमुख को जेल जाना होगा। वहीं सुनवाईं के दौरान सहारा ग्रुप की तरफ से दलील दी गई थी कि नोटबंदी की वजह से वो पैसा लौटाने में सक्षम नहीं हैं। बता दें कि सुब्रत राय फिलहाल पैरोल पर जेल से बाहर हैं। सुब्रत रॉय को मां के अंतिम संस्कार के लिए 6 मई, 2016 को पैरोल दी गई थी। जिसके बाद 28 नवंबर, 2016 को सुप्रीम कोर्ट ने सुब्रत रॉय को जेल से बाहर रहने के लिए 6 फरवरी, 2017 तक 600 करोड़ रुपये जमा कराने का निर्देश दिया था।

44803095

ऐसे में यहां सवाल उठना लामिजी है कि क्या रसूखदार लोग पैसे के बल पर जेल से बाहर रह सकते हैं। दूसरा सवाल क्या किसी गरीब के संदर्भ में भी अदालत का ऐसा ही रुख होगा।  


कमेंट करें