नेशनल

Bofors की फाइल बंद! SC ने CBI की दोबारा जांच की मांग को किया खारिज

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1501
| नवंबर 2 , 2018 , 14:39 IST

सीबीआई द्वारा सुप्रीम कोर्ट में बोफोर्स घोटाले की जांच फिर से शुरू किए जाने की मांग को शीर्ष अदालत ने खारिज कर दिया है। कोर्ट ने शुक्रवार को कहा कि सीबीआई 13 साल की देरी से अदालत क्यों आई? बता दें कि सीबीआई ने इस साल के शुरू में शीर्ष अदालत में एक याचिका दाखिल कर इस मामले की फिर से सुनवाई की इजाजत मांगी थी। शीर्ष अदालत के इस फैसले के बाद माना जा रहा है कि बोफोर्स का जिन्न अब पूरी तरह दफन हो गया है। हालांकि बीजेपी नेता अजय अग्रवाल द्वारा 2005 में इसी मामले पर दाखिल याचिका पर अभी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी बाकी है। पर अग्रवाल की अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट उनके पक्षकार होने पर ही सवाल उठाया था।

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई और जस्टिस के एम जोसेफ की पीठ ने 64 करोड़ रुपये के रिश्वतकांड जांच की सुनवाई करते हुए सीबीआई से कई तीखे सवाल पूछे।

पीठ ने कहा कि वह सीबीआई की इस केस में हिंदुजा ब्रदर्स को बरी करने के हाई कोर्ट के फैसले पर अपील करने में देरी की दलील से सहमत नहीं है। गौरतलब है कि दिल्ली हाई कोर्ट ने 13 साल पहले इस मामले में सभी आरोपियों पर लगे आरोपों को खारिज कर दिया था। सीबीआई ने दिल्ली हाई कोर्ट के 31 मई 2005 के फैसले के खिलाफ इस साल फरवरी में एक याचिका दाखिल की थी। वहीं, बीजेपी नेता एवं अधिवक्ता अजय अग्रवाल ने भी 2005 में एक अपील दायर की थी। अभी इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी बाकी है।

गौरतलब है कि बोफोर्स तोप सौदे के चलते 1980 के दशक में देश की राजनीति में भूचाल सा आ गया था। 1989 में कांग्रेस को इसकी वजह से सत्ता तक गंवानी पड़ी थी। मामले में आरोपी इटली के बिजनसमैन ओत्तावियो क्वात्रोकी की गांधी परिवार से कथित नजदीकी सवालों के घेरे में रही है।


कमेंट करें