नेशनल

सुप्रीम कोर्ट ने कठुआ गैंगरेप केस में लिया संज्ञान, J&K बार काउंसिल से मांगा जवाब

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
755
| अप्रैल 13 , 2018 , 16:54 IST

कठुआ गैंगरेप मामले में सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान लिया है। सुप्रीम कोर्ट ने वकीलों द्वारा आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट फाइल करने से रोकने के लिए किए गए आंदोलन की निंदा की है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कोई भी किसी वकील को पीड़ित या आरोपी के लिए पेश होने से नहीं रोक सकता। कोर्ट ने बार काउंसिल ऑफ इंडिया, जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट बार असोसिएशन, बार काउंसिल ऑफ जम्मू ऐंड कश्मीर और कठुआ जिला बार असोसिएशन को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। मामले की अगली सुनवाई 19 अप्रैल को होनी है।

चीफ जसटिस दीपक मिश्रा ने कहा कि अगर वकील अपने क्लाइंट का केस स्वीकार करता है तो उसकी जिम्मेदारी है कि वह उसके लिए पेश हो। सीजेआई ने कहा कि अगर वकील को मुवक्किल के लिए पेश होने से रोका जाता है तो इसे कानूनी प्रक्रिया में रुकावट और कानून में बाधा पहुंचाना माना जाएगा।

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के वकीलों के समूह ने सीजेआई दीपक मिश्रा, जस्टिस ए. एम. खानविलकर और जस्टिस डी. वाई. चंद्रचूड़ की बेंच से कठुआ मामले मे संज्ञान लेने के लिए कहा था।

वकीलों की गुजारिश पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर वकील कोर्ट के सामने लिखित में तथ्य रखते हैं तो मामले का संज्ञान लिया जाएगा।

कोर्ट चाहता है कि उसके सामने इस तथ्य को लिखित में प्रस्तुत किया जाए कि कठुआ के वकीलों ने रेप आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल होने से रोकने के लिए आंदोलन किया था। 

बता दें सोमवार को एक समुदाय विशेष के 46 वकीलों ने क्राइम ब्रांच को 8 साल की बच्ची के गैंगरेप और हत्या के 7 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करने से रोका था। 


कमेंट करें