मनोरंजन

आप भी 'विश्वरूपम 2' देखने का प्लान बना रहे हैं तो पहले रिव्यू पढ़ लीजिए

शुभा सचान , न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
3186
| अगस्त 10 , 2018 , 16:06 IST

कमल हासन की फिल्म 'विश्वरूपम 2' रिलीज हो चुकी है। यह फिल्म 2013 में आई फिल्म 'विश्वरूपम' का सीक्वल है। जिसकी कहानी वहीं से शुरू होती है, जहां पहली फ़िल्म की कहानी खत्म हुई थी। मिसाम नामले एक जासूस है जो कभी लंदन तो कभी इंडिया में जासूसी कर रहा है और आतंकवादियों के ख़िलाफ़ लड़ रहा है।मूल रूप से तमिल में बनी फिल्म को हिंदी में भी रिलीज किया गया है। विश्वरूपम 2 के साथ एक लंबे ब्रेक के बाद कमल हासन ने सिल्वर स्क्रीन पर वापसी की।

Dc-Cover-tk76db35d3aa5ue8akh3nestd4-20170421002622.Medi

फिल्म की कहानी

रॉ एजेंट मेजर विशाम अहमद कश्मीरी यानी कमल हासन अपनी पत्नी निरूपमा पूजा कुमार और अपनी सहयोगी अस्मिता ऐंड्रिया जेरेमिया के साथ अलकायदा के मिशन को पूरा करके लौट रहा है। अब उस पर नई जिम्मेदारियां हैं। इस बार भी उसका लक्ष्य कुरैशी राहुल बोस द्वारा फैलाए गए आतंकवाद के तांडव को रोकना है। इस मिशन में उसके साथ उसकी पत्नी और सहयोगी के अलावा कर्नल जगन्नाथ शेखर कपूर भी हैं। आतंकवाद के नासूर को रोकने की उसकी इस लड़ाई में उसे जान से मारने की कोशिश भी की जाती है और उसकी सहयोगी अस्मिता अपनी जान से हाथ धो बैठती है, मगर इन चुनौतियों से उसके हौसले पस्त नहीं होते। उसे देश में होने वाले 66 बम धमाकों के खौफनाक कारनामे को रोकना है। उसकी हिम्मत को तोड़ने के लिए अल्जाइमर से पीड़ित उसकी मां (वहीदा रहमान) को भी मोहरा बनाया जाता है। सलीम (जयदीप अहलावत) कुरैशी की आतंकी विरासत को आगे बढ़ाता है। क्या विशाम देश को आतंक की आंधी से तहस-नहस होने से बचा पाएगा? इसके लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

कुछ दृश्य और डॉयलॉग हैं अच्छे

इस फ़िल्म के लेखक, निर्देशक, निर्माता और अभिनेता ख़ुद कमल हासन ही हैं। यह एक स्पाई थ्रिलर फिल्म है जिसमें आज के दौर के हिसाब से कुछ संदेश है। 'विश्वरूपम 2' के कुछ हिस्सों में अच्छे संवाद और कुछ अच्छे दृश्य हैं। मिसाम का एक दृश्य मां के साथ है। जिसकी भूमिका वहीदा रहमान ने निभाई है, जो दिल को छूता है और कमल हासन के एक्सप्रेशन देखते बनते हैं।

फिल्म रिव्यू

फिल्म में कई तरह की खामियां भी रहीं। कमल हासन की एक्टिंग तो दमदार थी लेकिन फिल्म की कहानी लोगों को बांधने में कामयाब नहीं रही। फिल्म काफी बड़ी और कई बार बोर करने वाली भी लगी। फिल्म का नरेटिव आपको सुस्त कर देता है। स्क्रीनप्ले कमजोर है। दर्शकों ने इस फिल्म को देखने के बाद  5 में से 2.50 स्टार ही दिए हैं।

यहां देखें फिल्म का ट्रेलर


कमेंट करें