राजनीति

चंद्रबाबू से मुलाकात के बाद बोले राहुल, लोकतंत्र को बचाने के लिए एकसाथ आना जरूरी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1627
| नवंबर 1 , 2018 , 17:52 IST

2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के खिलाफ महागठबंधन की कवायद अब तेज हो गई है। कुछ महीने पहले एनडीए से अलग हुए आंध्र प्रदेश के सीएम और टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू एक बार फिर विपक्षी दलों को मिलाकर ऐसे महागठबंधन की तैयारी में लगे हुए हैं जो बीजेपी को चुनौती दे सके। चंद्रबाबू गुरुवार को दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की। बताया जा रहा है कि चंद्रबाबू सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी मुलाकात कर सकते हैं।

इस मुलाकात के बाद राहुल गांधी ने कहा कि देश में लोकतंत्र को बचाना होगा। लोकतंत्र को बचाने के लिए हम एकसाथ काम करेंगे। हमें इस देश के लोकतंंत्र और भविष्य को बचाने के लिए साथ आना ही होगा। पहले क्या हुआ मायने नहीं रखता, हम भविष्य के लिए साथ हैं। 

नायडू ने कहा कि इस देश को बचाने के लिए सभी पार्टियों को मिलजुल कर काम करना होगा। हमें अतीत को भूलकर लोकतंत्र बताने के लिए एकसाथ आना होगा।

बता दें कि विपक्षी दलों को एकजुट करने की कोशिशों में चंद्रबाबू का हफ्तभर में ये दूसरा दिल्ली दौरा है। वहीं इससे पहले चंद्रबाबू ने NCP अध्यक्ष शरद पवार और नैशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला के साथ बैठक की। 

तमाम दलों के नेताओं के साथ बैठकों को लेकर नायडू पहले ही साफ कर चुके हैं कि राष्ट्रीय स्तर पर विपक्षी दलों का गठबंधन बनाने में उनकी भूमिका 'समन्वयक' की है। हालांकि गुरुवार को बैठक के बाद उन्होंने यह भी कहा कि इन मुलाकातों का मकसद देश को बचाना है।

माना जा रहा है कि कांग्रेस तेलंगाना में एक छोटी क्षेत्रीय पार्टी के साथ गठबंधन बनाने की भी कोशिश कर रही है। सीपीआई भी गठबंधन के लिए उत्सुक है, लेकिन सीट शेयरिंग का मुद्दा उसके लिए बाधा बन रही है।


कमेंट करें