खेल

टीम इंडिया की मांग- वर्ल्ड कप के दौरान पत्नियों को साथ रखने दें, ट्रेन से यात्रा करने दें

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1620
| अक्टूबर 30 , 2018 , 15:38 IST

इंग्लैंड में क्रिकेट वर्ल्ड कप के शुरू होने में करीब सात महीने बचे हैं। ऐसे में टीम इंडिया भी इसकी तैयारियां पुख्ता करने में जुटी है। इसी क्रम में उसने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की प्रशासकों की समिति (सीओए) के सामने कुछ मांगें रखी हैं। हाल ही में हैदराबाद में हुई समीक्षा बैठक में सीओए से कहा गया कि विश्व कप के दौरान खिलाड़ियों को अपनी पत्नियों को साथ रखने की इजाजत दी जाए। सड़क यातायात की जगह ट्रेन से सफर करने की छूट दी जाए। साथ ही अन्य फलों के साथ नाश्ते में केले की जरूर व्यवस्था की जाए।

An

समीक्षा बैठक में टीम इंडिया ने रखी ये मांगे

कुछ महीने पहले भारतीय टीम ने इंग्लैंड में अपने दौरे की शुरुआत तो टी-20 सीरीज की जीत के साथ की थी, लेकिन उसके बाद वह वनडे और टेस्ट दोनों सीरीज हार गई। उसी दौरे को लेकर कुछ दिन पहले हैदराबाद में समीक्षा बैठक हुई थी।

- बैठक में कप्तान विराट कोहली के अलावा, उप कप्तान अंजिक्य रहाणे, रोहित शर्मा, कोच रवि शास्त्री और मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद भी मौजूद थे। इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, टीम की ओर से जब फल में केले की मांग की गई तो सीओए के सदस्य हैरान रह गए।

- खबर के मुताबिक, 'इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड दौरे के वक्त भारतीय टीम को उनकी पसंद के मुताबिक फल उपलब्ध कराने में असफल रहा था। हालांकि, खिलाड़यों की मांग पर सीओए ने कहा कि बीसीसीआई के खर्च पर केले खरीदने के लिए टीम मैनेजर को बताया जाना चाहिए था।'

- टीम इंडिया ने सीओए से कहा खिलाड़ियों के ठहरने के लिए ऐसे होटल बुक किए जाएं, जिनमें एक व्यवस्थित जिम हो। इसके अलावा दौरे के दौरान पत्नियों को साथ रखने संबंधी प्रोटोकॉल को लेकर भी चर्चा हुई।

- इस मांग पर सीओए ने टीम इंडिया से कहा कि वह कोई भी फैसला लेने से पहले टीम के सभी सदस्यों से लिखित में सहमति मांगेगा। सीओए की सदस्य डायना इडुल्जी ने कुछ दिन पहले कहा था कि इस मामले में जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं लिया जाएगा।

- टीम इंडिया ने वर्ल्ड कप के दौरान ट्रेन से सफर की इजाजत मांगी। इस मुद्दे पर कोहली एंड कंपनी का तर्क था कि यह सुरक्षित भी होगा और इससे समय की भी बचत होगी।

- खबर में कहा गया है, 'सीओए पहले तो इससे सहमत नहीं हुआ, क्योंकि वह खिलाड़ियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित था, लेकिन कोहली ने बताया कि इंग्लैंड की टीम ट्रेन से ही सफर करती है। उन्होंने कहा कि ट्रेन का एक कम्पार्टमेंट बुक करा लिया जाए।'

- इस पर सीओए ने कहा कि अगर कुछ भी अवांछित होता है तो इसके लिए न तो प्रशासकों की समिति और न ही बीसीसीआई जिम्मेदार होगा। दरअसल, सीओए इससे भी चिंतित था, क्योंकि भारतीय प्रशंसक भी इन्हीं ट्रेनों से सफर करते हैं।

 


कमेंट करें