नेशनल

पटना: 2 लड़कियों की मौत के बाद हरकत में प्रशासन, 'आसरा' की युवतियों का हुआ मेडिकल टेस्ट

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2114
| अगस्त 13 , 2018 , 13:19 IST

बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका गृह में शर्मनाक करतूत सामने आने के बाद अब पटना के एक शेल्टर होम की दो लड़कियों की मौत काफी संदेहात्मक लग रही है। पटना के शेल्टर होम में रहने वाली दो महिलाओं की संदिग्ध मौत के मामले ने विपक्ष को एक बार फिर नीतीश कुमार के खिलाफ मुखर होने का मौका दे दिया है। मुजफ्फरपुर कांड अभी ठंड़ा भी नहीं पड़ा की, पटना में एक शेल्टर होम में दो महिलाओं की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो जाने से बवाल मच गया। सरकार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए तुरंत कारवाई शुरू कर दी है।

पटना के आसरा शेल्टर होम में दो लड़कियों की संदेहास्पद मौत के बाद वहां रहने वाली अन्य लड़कियों का भी मेडिकल टेस्ट कराया जा रहा है। रविवार को दो युवतियों की मौत का मामला सामने आने के बाद प्रशासन कोई कोर-कसर छोड़ने के मूड में नहीं है। इस मामले को लेकर पुलिस और सरकारी महकमे में हड़कंप मचा हुआ है।

मामले में पुलिस ने जहां शेल्टर होम के सचिव और कोषाध्यक्ष को गिरफ्तार कर लिया गया वहीं एहतियात के तौर पर शेल्टर होम की अन्य लड़कियों का भी देर रात तक मेडिकल जांच हुआ। पटना के एसएसपी मनु महाराज, डीएम कुमार रवि, एसडीएम दल बल के साथ देर रात शेल्टर होम पहुंचे. इस दौरान उनके साथ सिविल सर्जन और डॉक्टरों की टीम थी।

पटना के डीएम कुमार रवि ने बताया "मामला प्रशासन के संज्ञान में है। इस मामले में कानूनी कार्रवाई की जा रही है।" इस मामले में गिरफ्तारी तो हो गई, मगर सवाल अब तक नहीं सुलझा कि महिलाओं की मौत की वजह दरअसल थी क्या ? डीएम और एसएसपी रात में शेल्टर होम की जांच के लिए पहुंचे तो पता चला कि शेल्टर में रहने वाली महिलाएं किसी न किसी बीमारी से जूझ रही हैं।

जिस शेल्टर होम में दोनों युवतियों की मौत हुई है वो अनुमाया ह्यूमन रिसोर्स फाउंडेशन एनजीओ से जुड़ा है। जानकारी के मुताबिक मृत युवती और महिला गायघाट स्थित महिला रिमांड होम से आसरा आयी थीं। दोनो को ब्लड चढ़ाने की थी जरूरत लेकिन शेल्टर होम में उनके साथ लापरवाही बरती गई।

पटना के डीएम की मानें तो कई महिलाएं मानसिक बीमारी से जूझ रही हैं। किन परिस्थितियों में दोनों महिलाओं की मौत हुई ये जानने के लिए दोबारा पोस्टमॉर्टम कराया गया है। लिहाजा सोमवार को पोस्टमॉर्टम की रिपोर्ट आनी है। तभी कुछ साफ हो पाएगा कि मौत की वजह क्या थी और शेल्टर होम का सच क्या है। इस केस के सामने आने से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर विपक्ष हमलावर नजर आ रहा है।


कमेंट करें