नेशनल

मोदी ने नेतन्याहू को कहा- 'शलोम' नमस्ते, त्रिमूर्ति चौक से जुड़ा हाईफा का नाम

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
378
| जनवरी 14 , 2018 , 16:23 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने दिल्ली के तीन मूर्ति स्मारक में आयोजित कार्यक्रम में तीन मूर्ति चौक का नाम बदलकर तीन मूर्ति हाइफा चौक किया। नेतन्याहू 6 दिन के भारत दौरे पर रविवार को ही दिल्ली पहुंचे हैं।

रविवार को बेंजामिन नेतन्याहू, उनकी पत्नी और पीएम मोदी तीन मूर्ति हाइफा पहुंचे और शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

बेंजामिन नेतन्याहू 6 दिवसीय यात्रा के पहले दिन दिल्ली पहुंच गए हैं। नेतन्याहू के साथ उनकी पत्नी सारा नेतन्याहू का पीएम नरेंद्र मोदी ने स्वागत किया. इसके बाद वो सबसे पहले तीन मूर्ति चौक गए।

NBT-image

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने दिल्ली के कार्यक्रम में तीन मूर्ति स्मारक पर भारतीय सेना के जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की और तीन मूर्ति चौक का नाम बदलकर तीन मूर्ति हाइफा चौक किया। उनके साथ पीएम मोदी और पत्नी सारा नेतन्याहू भी मौजूद रहे।

दरअसल, तीन मूर्ति स्मारक का इजरायल से गहरा संबंध है। यही वजह है कि इसका नाम बदलकर तीन मूर्ति हाइफा चौक कर दिया गया है।

प्रथम विश्व युद्ध के दौरान (1914-1918) भारतीय सैनिकों ने अप्रतिम साहस का परिचय देते हुए इजरायल के हाइफा शहर को आजाद कराया था। भारतीय सैनिकों की टुकड़ी ने तुर्क साम्राज्य और जर्मनी के सैनिकों से मुकाबला किया था।

माना जाता है कि इजरायल की आजादी का रास्ता हाइफा की लड़ाई से ही खुला था, जब भारतीय सैनिकों ने सिर्फ भाले, तलवारों और घोड़ों के सहारे ही जर्मनी-तुर्की की मशीनगन से लैस सेना को धूल चटा दी थी। इस युद्ध में भारत के 44 सैनिक शहीद हुए थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इजरायल दौरे के बाद तीन मूर्ति चौक का नाम बदलने की अटकलें तेज हो गई थीं।

भारत के तीन राज्यों (जोधपुर, हैदराबाद और मैसूर) से इजरायल में भेजे गए सैनिकों के नाम पर तीन मूर्ति चौक का नाम रखा गया था। अब तीन मूर्ति मार्ग का नाम बदलकर तीन मूर्ति हाइफा मार्ग किया गया है।

इससे पहले पीएम मोदी ने इजरायल की अपनी ऐतिहासिक यात्रा के अंतिम दिन हाइफा शहर में भारतीय शहीदों को श्रद्धांजलि दी थी। उसके बाद से ही तीन मूर्ति का नाम बदलकर तीन मूर्ति हाइफा करने की बात चल रही थी, लेकिन उसका औपचारिक ऐलान नहीं हुआ था।


कमेंट करें