राजनीति

तीसरे मोर्चे की कोशिशें तेज, ममता से मिले केसीआर, बोले- अभी यही है देश की जरूरत

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
958
| मार्च 19 , 2018 , 21:16 IST

तेलंगाना के मुख्यमंत्री और तेलंगाना राष्ट्र समिति के प्रमुख के. चंद्रशेखर राव (केसीआर) और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को मुलाकात कर देश में एक गैर-कांग्रेसी और गैर-भाजपाई संघीय मोर्चे के विचार सामने रखा। साथ ही दावा किया कि यह गठबंधन राजनीतिक पार्टियों की सीमा से परे जाकर केवल लोगों के एजेंडे पर केंद्रित होगा।

राज्य सचिवालय नाबन्ना में बैठक के बाद राव ने कहा, "निश्चित ही भारत के लोगों द्वारा संघीय मोर्चा बनने जा रहा है। यह महज राजनीतिक पार्टियों को एकसाथ लाना नहीं है। यह भारत के लोगों को एक करने के बारे में है। कम समय में हमारा मोर्चा संघीय मोर्चा हो जाएगा, लेकिन जो एजेंडा हम पेश करेंगे वह मौजदा समय के रूटीन माडल से पूरी तरह से अलग होगा। यह लोगों का एजेंडा होगा।"



उन्होंने कहा, "आज हमारी काफी सुखद बातचीत हुई जहां हम कई बातों पर सहमत हुए। हम इस देश के लिए वास्तविक संघीय मोर्चे को बनाने की कोशिश कर रहे हैं। यह एक विचारधारा वाले राजनीतिक नेताओं का समूह होगा। आज सिर्फ शुरुआत भर है। अन्य नेताओं के साथ बैठकों के बाद अन्य चीजें भी स्पष्ट होंगी।"

ममता बनर्जी ने भी इस मुलाकात को 'अच्छी शुरुआत' बताया और आशा जताई की समान विचारधारा वाले नेता देश के विकास पर ध्यान देने के लिए 'मजबूत' संघीय मोर्चे में शामिल होंगे।



उन्होंने कहा, "यह एक अच्छी शुरुआत है। राजनीति एक लगातार चलने वाली प्रक्रिया है। संवाग शुरू हो चुका है। नेताओं को एक-दूसरे से बात करने दीजिए। एक दिन वे सभी संघीय मोर्चा बनाने के लिए साथ आएंगे। हम संघीय मोर्चे को मजबूत देखना चाहते हैं। अगर राज्य मजबूत होंगे, तो केंद्र भी मजबूत होगा।"

ममता ने कहा, "हम जल्दबाजी में नहीं हैं। दूसरे राजनीतिक पार्टियों को भी आगे बढ़ने दीजिए। बड़े उद्देश्यों के लिए राजनीति में समय लगता है। सभी चीजों पर विस्तार से चर्चा होगी। अभी हम कल के लिए, भविष्य के लिए प्रतीक्षा कर रहे हैं।"


कमेंट करें