इंटरनेशनल

थाईलैंड: गुफा में फंसे फुटबॉल टीम के कोच ने लिखा खत, अभिभावकों से मांगी माफी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2023
| जुलाई 7 , 2018 , 20:47 IST

थाईलैंड की गुफा में पिछले दो हफ्ते से 12 बच्चों के साथ फंसे उनके कोच चैंटवॉन्ग ने अभिभावकों से माफी मांगी है। थाई नेवी ने उनका लिखा एक खत जारी किया है, जिसमें उन्होंने बच्चों के अभिभावकों को कहा है कि 'सभी बच्चे सुरक्षित हैं। मैं आपसे वादा करता हूं कि मैं उनका ख्याल रखूंगा। मैं सभी के नैतिक समर्थन के लिए धन्यवाद कहता हूं, और बच्चों के अभिभावकों से माफी मांगता हूं,' बता दें गुफा में फंसे 12 बच्चों के साथ उनके 25 वर्षीय कोच इक्कापोल चंतोवोंग एक अकेले व्यस्क हैं। वहीं गुफा में फंसे बच्चों की उम्र 11 से 16 सल के बीच है। ये खत थाई नेवी ने शनिवार को फेसबुक पर पोस्ट किया। कोच ने खत में अपनी दादी और आंटी के लिए लिखा, 'मैं यहां सुरक्षित हूं। परेशान मत होना और अपना ध्यान रखना'।

इस खत में बच्चों ने लिखा है कि वह गुफा से निकलते ही घर जाना चाहते हैं। उन्होंने लिखा कि वह मजबूत हैं और उनकी चिंता ना की जाए। कई ने तो यह भी कहा कि जब वह गुफा से बाहर निकलें तो उन्हें उनका पसंदीदा खाना दिया जाए। वहीं एक बच्चे ने कहा कि 'चिंता मत करो, मैं ठीक हूं।' एक अन्य बच्चे ने कहा कि 'आई लव यू पापा, मम्मी और खिलौने। अगर मैं बाहर निकल पाया तो आप कृप्या मुझे मेरे पसंदीदा रेस्टोरेंट में लेकर जाना।' एक और बच्चे ने लिखा, 'मेरी चिंता मत करो कि मैं दो हफ्तों से लापता हूं, मैं जल्द ही दुकान में आपकी मदद करूंगा।'

Thai_soccer_teens_super_169.0

वही गुफा में फंसी फुटबॉल टीम के खिलाड़ियों तक पहुंचने के लिए पहाड़ में 100 से ज्यादा चिमनियां बनाईं जा रहीं हैं। बचाव अभियान के प्रमुख से मिली जानकारी के मुताबिक गुफा में फंसे बच्चों को ऊपर के रास्ते से बाहर निकालने के लिए नए तरीके तलाशे जा रहे हैं. उन्होंने कहा अगर गुफा में पानी भरा रहता है, तो वहां से गोतीखोरी करते हुए उन्हें बाहर निकालना जोखिम भरा हो सकता है. बचाव अभियान प्रमुख नारोंगसाक ओसोट्टानाकोर्न ने मीडिया से कहा, 'कुछ (चिमनियां) कम से कम 400 मीटर गहरी हैं. लेकिन अभी भी उन्हें बच्चों का ठिकाना नहीं मिला है.' उन्होंने कहा कि उनके पास वह तकनीक नहीं है जिससे उन लोगों की स्थिति का सटीक पता लगाया जा सकता है।

Water. 2 jpg

गौरतलब है कि 11 से 16 साल के ये खिलाड़ी और उनके 25 वर्षीय कोच 23 जून को फुटबॉल के एक मैच के बाद उत्तरी चिआंग राय प्रांत में थाम लुआंग नांग नोन गुफा देखने गए थे, जिसके बाद वे लापता हो गए. भारी बारिश के कारण गुफा में पानी भर गया, जिस वजह से वे सभी वहां फंस गए. काफी कोशिशों के बाद एक ब्रिटिश गोताखोर ने सोमवार रात को उन्हें ढूंढ निकाला था।

 


कमेंट करें