खेल

हरभजन सिंह के साथ हुए 'मंकीगेट' के बाद मैं ज्यादा शराब पीने लगा: ऐंड्रू साइमंड्स

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1624
| नवंबर 2 , 2018 , 15:35 IST

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व ऑलराउंडर ऐंड्रू साइमंड्स ने भारत के साथ हुए चर्चित 'मंकीगेट' प्रकरण पर अपनी राय रखी है। उन्होंने कहा है कि इस प्रकरण के बाद वह शराब के आदी बन गए हैं। ऑस्ट्रेलिया के इस दिग्गज ऑलराउंडर ने आरोप लगाया था कि 2008 में खेले गए सिडनी टेस्ट में भारतीय ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने उन्हें 'मंकी' यानी बंदर कहा था।

हरभजन सिंह ने ऐसी किसी भी बात से इनकार किया था। हरभजन पर पहले तीन मैचों का बैन लगाया गया थालेकिन बाद में जब भारत ने दौरा बीच में ही छोड़कर जाने की धमकी दी, तो दोनों देशों के क्रिकेट संबंधों में काफी खटास आ गई। इसके बाद हरभजन से बैन हटाया गया। 10 साल बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया एक बार फिर अपने खिलाड़ियों के व्यवहार को लेकर चर्चा में है।

साउथ अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ के चलते उसके कप्तान (पूर्व) स्टीव स्मिथ, उपकप्तान (पूर्व) डेविड वॉर्नर को बैन का सामना करना पड़ा है। एक रिव्यू कमिटी ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और उसके कल्चर पर निशाना साधा है। इंग्लैंड में पैदा हुए साइमंड्स के माता-पिता में से कोई एक वेस्ट इंडीज के थे। वह अब भी कहते हैं कि हरभजन सिंह ने कई बार मंकी कहा। शायद, 'दो से तीन बार।' उन्होंने कहा, 'इसके बाद मेरे करियर का ढलान शुरू हो गया।'

उन्होंने कहा, 'मैंने काफी मात्रा में शराब पीनी शुरू कर दी। इसका असर यह हुआ कि मेरा जीवन मेरे ही इर्दगिर्द घूमने लगा। उन्होंने कहा कि वह काफी दबाव महसूस करने लगे थे। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने कहा कि उन्होंने इस मामले को गलत तरीके संभाला। मैंने अपने टीम के साथियों को भी इस मामले में घसीट लिया। मुझे नहीं लगता कि ऐसा किया जाना चाहिए था।

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के साथ साइमंड्स का अनुंबध जून 2009 में समाप्त हो गया था जब शराब-संबधी आदतों के चलते उन्हें वर्ल्ड टी20 से वापस भेज दिया गया था। साइमंड्स ने कहा कि उनका निदान शराब के अधिक सेवन करने वाले व्यक्ति के तौर पर किया गया न कि शराब के आदी के रूप में।

साइमंड्स ने 'ऑस्ट्रेलियन ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन' से कहा, 'इस क्षण के बाद से मेरे करियर में गिरावट शुरू हो गई। मैंने बहुत शराब पीना शुरू कर दिया। मैं दबाव महसूस करने लगा कि मैंने अपने साथी खिलाड़ियों को इस प्रकरण में फंसा दिया। मैं इसका सामना गलत तरीके से कर रहा था। मैं महसूस कर रहा था कि मैं दोषी हूं, मैंने अपने साथियों को ऐसी चीज में शामिल कर दिया जिसमें मुझे लगता है कि वे शामिल होने के हकदार नहीं थे।'

साइमंड्स ने ऑस्ट्रेलिया के लिए अपना अंतिम मैच मई 2009 में खेला था। एक महीने बाद उन्हें टीम के शराब पीने संबंधित और अन्य मुद्दों पर कई नियमों को तोड़ने के लिए वर्ल्ड T20 से स्वदेश भेज दिया गया था और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने उनका अनुबंध समाप्त कर दिया था। यह खिलाड़ी इस प्रकरण पर अपनी बात पर अडिग रहा कि हरभजन ने कई बार उनके अभद्र भाषा में बात की थी।

उन्होंने कहा, 'मैंने भारत में इस सीरीज से पहले हरभजन से बात की थी, उसने भारत में पहले भी मुझे बंदर कहा था। मैं उनके ड्रेसिंग रूम में गया और कहा, क्या मैं एक मिनट के लिए हरभजन से बाहर बात कर सकता हूं, प्लीज? वह बाहर आया और मैंने कहा, 'देखो, इस तरह के नाम से पुकारना बंद होना चाहिए वर्ना यह चीज हाथ से बाहर निकल जाएगी।'


कमेंट करें