नेशनल

केरल: बाढ़ से अब तक मरे 167, राहत कार्यों में लगी नेवी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
2397
| अगस्त 17 , 2018 , 18:39 IST

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केरल में बाढ़ के हालात का जायजा लेने के लिए शुक्रवार शाम वहां जाएंगे। मोदी ने ट्वीट किया कि केरल में बाढ़ की वजह से बने दुर्भाग्यपूर्ण हालात का जायजा लेने के लिए वह शाम तक केरल पहुंच जाएंगे। प्रधानमंत्री ने शुक्रवार सुबह केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन से बात की।

मोदी ने कहा,

'हमने राज्यभर में बने बाढ़ के हालात पर चर्चा की और बचाव अभियान का जायजा लिया। केरल में भारी बारिश और बाढ़ की वजह से 167 लोगों की जान चली गई है। इसके अलावा, कई घरों में पानी भर गया और सड़कों को नुकसान पहुंचा वहीं कई स्थानों पर हवाई और रेल यातायात बाधित हुआ।'

अधिकारियों ने बताया कि आठ अगस्त से भारी बारिश औ बाढ़ की वजह से 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। मानसूनी बरसात से पिछले दो दिनों में ही 55 लोगों की जान गई है। भारतीय नौसेना ने त्रिचुर, अलूवा और मवूत्तुपुझा में फंसे हुए लोगों को हवाई मार्ग से निकाला है। वीडियो में दिखाया गया है कि लोग जलमग्न घरों की छतों और पहाड़ों पर हैं और नौसेना हेलीकॉप्टरों के जरिए निकाल रही है।

केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने बाढ़ से हुई मौतों के ताजा आंकड़ों की जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि अभी तक 167 लोगों की मौत हो गई है।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देशों पर रक्षा मंत्रालय ने राज्य में राहत और बचाव कार्य के लिए सेना की तीन इकाइयों की नयी टीमें भेजी हैं। राज्य में 1.5 लाख से ज्यादा बेघर और विस्थापित लोग राहत शिविरों में हैं। सूत्रों ने बताया कि राज्य के 14 जिलों में से एक को छोड़ कर सभी हाई अलर्ट पर हैं। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल के करीब 540 कर्मियों की 12 सीटों को भी केरल भेजा गया है।

राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) ने केरल में करीब एक सदी में आई सबसे भीषण बाढ़ की वजह से तेजी से बिगड़ती स्थिति की समीक्षा के लिए नयी दिल्ली में बैठक की। कैबिनेट सचिव पीके सिन्हा की अध्यक्षता में हुई बैठक में थल सेना, नौसेना और वायु सेना प्रमुखों के अलावा, गृह, रक्षा सचिवों समेत अन्य शीर्ष अधिकारियों ने शिरकत की।


कमेंट करें